Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Caste Census: तेजस्वी का तीखा सवाल- सीएम नीतीश सहयोगी हैं या पीएम नरेंद्र मोदी के गुलाम?

जातीय जनगणना के मुद्दे पर बीते काफी दिनों से बिहार में सियासत गर्म है। अब राजद नेता तेजस्वी यादव ने जातीय जनगणना के मामले को लेकर सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ तंज कसा है। साथ ही तेजस्वी ने तीखा सवाल किया कि नीतीश सहयोगी हैं या पीएम नरेंद्र मोदी के गुलाम हैं।

bihar latest news RJD leader Tejashwi Yadav targets CM Nitish Kumar over caste census PM Narendra Modi News
X

झारखंड के राजद नेताओं के साथ बैठक करते तेजस्वी यादव।

जातीय जनगणना (caste census) कराए जाने की मांग को लेकर बिहार (Bihar) में काफी दिनों से सियासत गरमाई हुई है। अब राजद विधायक एवं बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Leader of Opposition Tejashwi Yada) ने जातीय जनगणना के मुद्दे को लेकर बिहार सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के खिलाफ करारा वार किया है। बुधवार को तेजस्वी यादव ने यह भी सवाल किया कि सीएम नीतीश सहयोगी हैं या पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के गुलाम है। पत्रकारों ने तेजस्वी यादव से जब जातीय जनगणना को लेकर सवाल किया तो उन्होंने यह तीखा बयान दिया।

वहीं राजद नेता तेजस्वी (RJD leader Tejashwi Yadav) ने सवाल कि वो 4 अगस्त से पीएम नरेंद्र मोदी के लिए पत्र लिख रहे हैं। जिससे कि जातीय जनगणना के मसले पर बातचीत हो सके। पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास बिहार के सीएम नीतीश कुमार से मिलने का वक्त नहीं है। उन्होंने पूछा कि नीतीश कुमार सहयोगी हैं या पीएम मोदी के गुलाम? आपको बता दें कि बिहार में नीतीश कुमार भाजपा (BJP) के सहयोगी हैं व वह जातीगत जनगणना कराए जाने का समर्थन कर रहे हैं। सीएम नीतीश ने इस मसले को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को बीते दिनों पत्र भी लिखा है। जाति आधारित जनगणना के मसले पर चर्चा के लिए पीएम से वक्त मांगा है।

वैसे बीते दिनों सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि वो पीएम मोदी की ओर से मुलाकात के लिए वक्त मिलने का इंतजार कर रहे हैं। सीएम ने 16 अगस्त को बताया था कि पीएम मोदी को उनका पत्र मिल गया है। इस बारे में उन्हें बीते 13 अगस्त को पीएमओ की ओर से सूचना दे दी गई थी। सीएम ने कहा था कि हम पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से अपॉइंटमेंट मिलने का इंतजार कर रहे हैं।

सीएम नीतीश ने बताया था कि जातीगत जनगणना कराए जाने की मांग को लेकर एक प्रस्ताव साल 2019 में बिहार विधानसभा व विधान परिषद में सर्वसम्मति से पारित किया गया था। बिहार विधानसभा में साल 2020 में एक बार फिर यही प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया गया।

राजद नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को झारखंड में पार्टी के विस्तार को लेकर वहां के राजद नेताओं के साथ मीटिंग की। जहां तेजस्वी यादव ने कहा कि वह पार्टी का कार्य सुनिश्चित करने के लिए प्रति माह के तीसरे रविवार को झारखंड का दौरा करेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व में हमारी पार्टी ने वहां बहुत कम अंतर से कुछ सीटें हारी थीं। इसको लेकर हमने गहन चर्चा की है। तेजस्वी यादव ने यह भी बताया कि संजय यादव झारखंड में राष्ट्रीय जनता दल के प्रधान महासचिव हैं। राजद नेता ने इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ भी निशाना साधा और कहा कि बाढ़ के हालातों का जायजा लेने के लिए बिहार में कोई केंद्रीय समिति नहीं भेजी गई है। पीएम नरेंद्र मोदी ने बिहार में बाढ़ के संकट से मुंह मोड़ लिया है।

Next Story