Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुशांत मामले में बयान बाजी करने की जगह सुप्रीम कोर्ट में ठीक से मुकदमा लड़े बिहार सरकार : कांग्रेस

कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत मामले में न्याय मिला चाहिये। अगर मामले को लेकर मुंबई पुलिस की जांच में कमी है तो बिहार सरकार बयान बाजी करने की जगह सुप्रीम कोर्ट में ठीक से सुशांत सिंह मामले को लड़े। वहीं जदयू ने मामले को लेकर शरद पवार द्वारा दिये गये बयान पर नाराजगी जाहिर की है।

bihar government fought suit in supreme court instead of stating statement in sushant case congress
X
सुशांत सिंह राजपूत मामला

हार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच सही होनी चाहिये। मामले में न्याय मिलना चाहिये। उन्होंने कहा कि मुंबई पुलिस मामले की जांच कर रही है। अगर मुंबई पुलिस की जांच में कोई कमी है तो बिहार की भाजपा और जदयू सरकार सुप्रीम कोर्ट में मामले के संबंध बात ठीक से रखे। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार अदालत से माममे में मोनिटर जांच मांग करे। उन्होंने कहा कि बयान बाजी से कुछ नहीं होगा, बिहार सरकार सुप्रीम कोर्ट में गंभीरता से सुशांत सिंह राजपूत के मौत मामले को लड़े।



जदयू ने शरद पवार के बयान पर जताई नाराजगी

जदयू ने सुशांत सिंह राजपूत मामले में एनसीपी चीफ शरद पवार द्वारा दिये गये बयान पर नाराजगी जताई है। जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि शरद पवार एक बड़े नेता हैं। उनके तरफ से सुशांत मामले पर उटपटांग बयान का आना निंदनीय है। पवार पूरी जांच प्रक्रिया देख रहे हैं, फिर कैसे उन्होंने मुंबई पुलिस की जांच को क्लीन चिट दे दी? पवार जी के पास वजह जो भी रही हो पर उनसे ऐसी बातों की आशा नहीं कि जा सकती। याद रहे सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एनसीपी चीफ शरद पवार ने कहा कि उन्हें महाराष्ट्र सरकार व मुंबई पुलिस की जांच पर पूरा भरोसा है। साथ ही उन्होंने अजित पवार के बेटे पार्थ पवार की ओर से मामले के संबंध में की गई सीबीआई जांच की मांग को भी खारिज किया। इसके अलावा शरद पवार ने कहा कि जैसे इस घटना को मीडिया में तवज्जो दी जा रही है वह आश्चर्यजनक है।




Next Story