Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar elections: सुहेली मेहता बोलीं- यह हमला नीतीश कुमार पर नहीं, बल्कि महिलाओं के सशक्तिकरण पर हुआ

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: हरलाखी में नीतीश कुमार पर हुये हमले को जदयू नेत्री सुहेली मेहता ने महिलाओं के सशक्तिकरण व बिहार की शांति पर हुआ हमला करार दिया है। इसके अलावा पटना में जदयू नेताओं ने प्रेस वार्ता आयोजित कर मामले पर निंदा जाहिर की व साथ ही कांग्रेस व राजद पर करारे वार किये।

bihar elections suheli mehta described attack on nitish kumar as an attack on women empowerment
X

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: जदयू ने पटना में पार्टी ऑफिस पर प्रेस वार्ता कर नीतीश कुमार पर हुये हमला की निंदा जाहिर की।

Bihar Assembly Elections 2020: मधुबनी के हरलाखी विधानसभा में चुनावी जनसभा के दौरान कुछ अराजक तत्वों ने कल नीतीश कुमार पर हमला किया। जिस पर जदयू ने बुधवार को पटना में प्रेस वार्ता आयोजित कर निंदा जाहिर की। प्रेस वार्ता के दौरान जदयू नेता ललन पासवान व पार्टी नेत्री सुहेली मेहता समेत अन्य नेता मौजूद रहे। प्रेस वार्ता के दौरान जदयू नेता ललन पासवान ने नीतीश कुमार पर हुये हमले का आरोप इशारों-इशारों में कांग्रेस और राजद पर मढ़ा।

प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुये सुहेली मेहता ने कहा कि ये हमला नीतीश कुमार पर नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि बल्कि यह हमला महिलाओं के सशक्तिकरण व बिहार की शांति पर हुआ है। सुहेली मेहता ने कहा कि इन लोगों का मकसद सिर्फ अराजकता लाना है।

सुहेली मेहता ने कहा कि ये उन्हीं लोगों का कार्य हो सकता है। जो बिहार में हर वर्ग के लिए हुए विकास कार्यों को रोकना चाहता हैं। क्योंकि ये हमला नीतीश कुमार पर नहीं, बल्कि यह हमला नीतीश कुमार के सुशासन व उनके विकास कार्यों पर हुआ है।

सुहेली मेहता ने बताया कि हरलाखी विधानसभा में कुछ अराजक तत्वों ने नीतीश कुमार पर हमला किया है। ये लोकतंत्र में बिल्कुल भी माफ नहीं किया जा सकता है। ये निंदनीय नहीं बल्कि अति निंदनीय है।

जनतंत्र में चलती है बोली, गोली नहीं: ललन पासवान

प्रेत वार्ता के दौरान जदयू नेता ललन पासवान राजद, कांग्रेस और सीपीआई माले जैसे दलों पर पूरी तरह से हमलावर नजर आये। ललन पासवान ने कहा कि जनतंत्र में बोली चलती है। गोली नहीं चलती है। मरी हुई कांग्रेस आज दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से लाल झंडे के नीचे अपने आप को जिंदा करने चली है। ललन पासवान ने कहा कि जिस जहानाबाद में दूध की नदियां बहती थीं। उस जहानाबाद में खून की नदियां बहने लगीं। लगातार नरसंहार हो रहे थे। हर जाति हर वर्ग के लोग नक्सलियों द्वारा मारे जा रहे थे। लेकिन नीतीश कुमार के आने के बाद सभी नक्सल दल भी खत्म हुए। सुशासन राज भी आया लोगों ने बंदूक छोड़कर कलम उठाना शुरू किया।

ललन पासवान ने कहा कि हमारा बिहार हमारे पूर्वजों की विरासत से पहचाना जाता है। बुद्ध का बिहार, नालंदा का बिहार, गांधीजी की कर्मभूमि का बिहार, महावीर का बिहार, आम्रपाली के गणतंत्र का बिहार।

रोजगार के नाम लोगों बरगला रहे हैं ये लोग: ललन पासवान

जदयू नेता ललन पासवान प्रेस वार्ता के दौरान नाम लिये बिना राजद को भी निशाने पर लेते हुये नजर आये। ललन पासवान और इनके परिवार की क्या विरासत रही है, हत्या, रंगदारी, अपराध, अराजकता व जातिवाद तो इसको कोई भूल सकता है? रोजगार की बात करते फिर रहे हैं कुछ लोग, अपने कार्यकाल में कहां थे? दे दिए होते तब, दिया नहीं गया अब झूठ बोलकर लोगों को बरगला रहे हैं।

फोटो हटा देने से अपराध भुलाये नहीं जा सकते: जदयू

ललन पासवान ने कहा कि सीपीआई माले जैसे सभी दलों का साथ राजद को मिला है। ये वही पार्टियां हैं जो बिहार में बंदूकों की पूजा करती थी। बहु- बेटियों की आबरू के साथ दिन दहाड़े खिलवाड़ हुआ करता था। ललन पासवान ने कहा कि अरे भई जब अपराध हुआ था बाथे, लक्ष्मणपुर, बथानी में, जनसंहार हुआ था तो इसे आप भुलवा थोड़ी न सकते हैं। फ़ोटो हटा देने से कोई भूल जाएगा क्या?

Next Story