Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Elections: रवि शंकर प्रसाद ने कांग्रेस से पूछा- कौन सी ताकतें सरदार पटेल को भारत रत्न मिलने से रोक रही थी?

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: भाजपा नेता रवि शंकर प्रसाद ने सरदार पटेल को बहुत देर से भारत रत्न मिलने पर सवाल उठाये हैं। उन्होंने कांग्रेस व महागठबंधन से पूछा कि कौन सी ताकतें सरदार पटेल को भारत रत्न मिलने से रोक रही थी?

bihar assembly elections 2020 ravi shankar prasad saya we will only give jobs to 5 million people in it
X

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने औरंगाबाद में गिनवाई एनडीए सरकार की उपलब्धियां।

Bihar Assembly Elections 2020: बिहार में विधानसभा के चुनावों को लेकर जबरदस्त सियासी घमासान देखने को मिल रहा है। अब केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता रवि शंकर प्रसाद ने सरदार पटेल को भारत रत्न मिलने में देरी होने पर कांग्रेस के खिलाफ नाराजगी जाहिर की है। मामले को लेकर रवि शंकर प्रसाद ने कांग्रेस और महागठबंधन से एक सवाल पूछा है। रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि सरदार पटेल का देहांत 1950 में हुआ था। वहीं भाजपा नेता ने कहा कि लेकिन सरदार पटेल को भारत रत्न सन 1991 में क्यों दिया गया।

यानि की सरदार पटेल की मौत के 41 वर्ष बाद उनको भारत रत्न दिया गया। रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि इस समय में बहुत से लोगों को भारत रत्न दिये गये। इस रवि शंकर प्रसाद ने कांग्रेस व महागठबंधन से पूछा कि वो कौन सी ताकतें थीं जो सरदार पटेल को भारत रत्न मिलने से रोकने की कोशिशें कर रही थीं। आपको बता दें, आजादी के बाद देश के सबसे पहले गृहमंत्री बने थे सरदार वल्लभ भाई पटेल। इन्होंने उस समय भारत की एकता में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी। इन्होंने अपनी समझबूझ के बल पर करीब 562 देशी रियासतों को भारत में मिलाकर भारत को एक सूत्र में बांधा था।



केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने इससे पहले आज ट्वीट कर 31 अक्टूबर को सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। रवि शंकर प्रसाद ने अपने संदेश में लिखा कि आज हम सरदार वल्लभ भाई पटेल की 145 वीं जयंती पर राष्ट्रीय एकता दिवस मनाते हैं। आधुनिक और संयुक्त भारत के महान वास्तुकार 'लौह पुरुष' सरदार वल्लभभाई पटेल जी को मेरी श्रद्धांजलि जिन्होंने भारत के एकीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Next Story