Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Elections: पटना में पीएम मोदी बोले- बिहार से छट गया लालटेन काल का अंधेरा, अब बिजली व एलईडी की आकांक्षा

Bihar Assembly Elections 2020: पटना में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि बिहार में लालटेन काल का अंधेरा छट चुका हैं। उन्होंने कहा कि बिहार की आकांक्षा अब लगातार बिजली व एलईडी बल्ब की है।

PAC रैंकिंग में ये राज्य बने सबसे सुशासित राज्य, जानें यूपी और बिहार की रैंकिंग
X

PAC रैंकिंग

Bihar Assembly Elections 2020: पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पटना में एनडीए प्रत्याशियों के पक्ष में चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान वो पूर्व की सरकारों पर जमकर हमलावर रहे। पीएम नरेंद्र मोदी ने विरोधियों पर निशाना साधते हुये कहा कि बिहार के गरीब की आकांक्षा, बिहार के मध्यम वर्ग की ये आकांक्षा कौन पूरी कर सकता है? वो लोग जिन्होंने बिहार को बीमार बनाया, बिहार को लूटा, क्या वो ये काम कर सकते हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने सिर्फ अपने परिवार के बारे में सोचा, बिहार के एक-एक व्यक्ति के साथ अन्याय किया व दलितों-पिछड़ों-वंचितों का हक भी हड़प लिया। मोदी ने कहा, क्या वो ही लोग बिहार की उम्मीदों को समझ भी पाएंगे?



संबोधन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने बिहार में एनडीए की सरकार के शासन में बदलाव के दावे भी किये। उन्होंने कहा कि बिहार में पहले अस्पताल में एक डॉक्टर का मिलना दुर्लभ था। उन्होंने बताया कि अब बिहार में जगह-जगह मेडिकल कॉलेज व एम्स जैसी सुविधाओं की आकांक्षा है। पहले गांव-गांव में मांग थी कि किसी तरह खड़ंजा बिछ जाए। अब हर मौसम में बनी रहने वाली चौड़ी सड़कों की आकांक्षा है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी कभी कहते थे कि बिहार में बिजली की परिभाषा यह है। कि वो आती कम है व जाती ज्यादा है। वहीं पीएम मोदी ने दावा किया कि लालटेन काल का अंधेरा अब छट चुका है। बिहार की आकांक्षा अब लगातार बिजली व एलईडी बल्ब की है।



पीएम मोदी ने बताया कि बीते 15 वर्ष में बिहार ने नीतीश जी की अगवाई में कुशासन से सुशासन की तरफ कदम मजबूती से बढ़ाए हैं। एनडीए सरकार के प्रयासों के कारण बिहार ने असुविधा से सुविधा की ओर, अंधेरे से उजाले की ओर, अविश्वास से विश्वास की ओर व अपहरण उद्योग से अवसरों की ओर का एक लंबा सफर तय किया है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने बताया कि बीते समय में शिक्षा से लेकर शासन तक, किसान से लेकर श्रमिक तक, जीने में आसानी से लेकर व्यापार करने में आसानी तक के लिए अभूतपूर्व रिफॉर्म्स किए गए हैं। आज साढ़े तीन दशक बाद नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति देश को मिल चुकी है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने इस दौरान नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भाषा व अवसरों के अभाव के कारण बिहार का जो हमारा गरीब व वंचित छूट जाता था। उसको सबसे ज्यादा लाभ होने वाला है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि बिहार में आईटी हब बनने की, पूरी संभावना है। यहां पटना में भी आईटी की बड़ी कंपनी ने अपना ऑफिस खोला है। सिर्फ ऑफिस ही नहीं खुला है। बिहार के नौजवानों के लिए नए अवसर भी खुले हैं। बीते वर्षों में दर्जन भर बीपीओ पटना, मुजफ्फरपुर व गया में खुले हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि आज एनडीए सरकार का जोर है कि सरकारी सेवाओं व सुविधाओं से कोई क्षेत्र या कोई व्यक्ति छूट न जाए। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा रहा है। पटना में ही शहरी गरीबों को 28 हजार पक्के घर टेक्नोलॉजी के उपयोग से स्वीकृत हुए हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने एनडीए सरकार में हो रहे पारदर्शिता से हो रहे कार्यों का भी जिक्र जनता के बीच किया। उन्होंने कहा कि जनधन, आधार, मोबाइल की त्रिशक्ति अगर नहीं होती तो कोरोना काल में बिहार के लाखों गरीबों के हक का राशन कोई हड़प लेता। जो पहले के वर्षों में होता था।

पीएम ने कहा कि टेक्नॉलॉजी का उपयोग करते हुए अब नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन भी शुरु किया जा रहा है। इसके तहत बिहार के सभी नागरिकों का हेल्थ रिकॉर्ड बनेगा। इससे गरीब को, मध्यम वर्ग के साथियों को अस्पतालों में लंबी कतारों में खड़ा होने की ज़रूरत नहीं रहेगी।

उन्होंने बताया कि ऑप्टिकल फाइबर से हर गांव में सार्वजनिक वाई-फाई सेवा मिलेगी। प्राथमिक विद्यालय, आशा वर्कर, आंगनवाड़ी व जीविका दीदियों को एक साल के लिए मुफ्त इंटरनेट सुविधा दी जाएगी।

Next Story