Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार चुनाव 2020: कोरोना से बचाने के लिए आए मास्‍क पर चढ़ा सियासी रंग

कोरोना वायरस से बचने के लिए उपयोग में लाया जा रहा फेस मास्क मौसम के अनुसार अपने रंग बदल रहा है। शुरू में मास्क मेडिकल उपकरण के तौर पर उपयोग किया था। कुछ समय गुजरा तो इस पर फैशन का रंग चढ़ा और बिहार में विधानसभा चुनाव है तो इसने सियासी रंग-रूप धारण कर लिया और चुनाव प्रचार में इस्तेमाल होगा।

bihar election 2020 political colors come to the mask to save from corona
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार में विधानसभा चुनाव की सरगर्मियां तेज हैं। जिसको लेकर सियासी पार्टियों ने मास्क को प्रचार सामग्री के तौर पर इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। नतीजन सियासी दल गमछा और टी-शर्ट के साथ ही अब मास्क भी पसंदीदा रंग और चुनाव चिह्न के साथ बाजार में आने लगा है। उम्मीदवार और कार्यकर्ता अब अपने चेहरे पर जो मास्क लगाकर जाने की तैयारी में हैं, उसपर उनका चुनाव चिह्न भी छपा रहेगा।

चुनावी साल में राजद, जदयू, लोजपा समेत कई सियासी दलों के चुनाव चिह्न वाले मास्क तेजी से चलन में आ रहे हैं। चुनाव प्रचार सामग्री की दुकान चलाने वाले दुकानदारों का कहना है कि कोरोना काल में मास्क और गमछा की मांग बढ़ी है। सियासी दलों से जुड़े लोग पार्टी के रंग और चुनाव चिह्न के हिसाब से मास्क मंगवाने करने के आर्डर दे रहे हैं।

दुकानदार ने बताया कि प्रिंटेड मास्क और अन्य सामग्री अहमदाबाद से मंगाई गई है। मांग को देखते हुए शुरुआती दौर में हर पार्टी के लिए 10-10 हजार मास्क और टी-शर्ट का ऑर्डर दिया गया है। जरूरत के मुताबिक और प्रचार सामग्री मंगाई जाएगी। नेताओं को सूती और लिनेन के मास्क अधिक पसंद आ रहे हैं।

दुकानदार ने बताया कि जदयू और राजद से ज्यादा ऑर्डर मिलने की उम्मीद है, क्योंकि भाजपा और कांग्रेस जैसी पार्टियां इन चीजों को अपने कार्यकर्ताओं के बीच खुद बांटती हैं।

Next Story