Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार: कटैया नदी पर डायवर्सन टूटा, कई गांवों के हजारों लोग प्रभावित

नेपाल के साथ-साथ उत्तर बिहार में लगातार हो रही भारी बारिश से अब ऊफनाई नदियां तबाही मचाने लगी हैं।कटैया नदी पर डायवर्सन टूटने की वजह से कई गांवों के हजारों लोग प्रभावित हो गए हैं।

bihar diversion on Kataiya river broken thousands of people affected in many villages
X
कटैया नदी पर डायवर्सन टूटा

सूबे में अधिकांश नदियां लाल निशान से ऊपर रहीं थी। बाढ़-कटाव के बीचे कई जिलों के निचले इलाकों से विस्थापन तेजी से हो रहा है। मधुबनी के लदिनयां में नेशनल हाइवे 104 पर लक्ष्मीनियां व झलोन गांव के बीच कटैया नदी पर बना डायवर्सन पानी के अधिक दबाव की वजह से टूट गया है। अब इस रास्ते पर आवागमन ठप हो गया है। बिहुल नदी के पूर्वी तटबंध पर पानी का अत्यधिक दबाव है। कभी भी तटबंध टूट सकता है। इससे भूतहा,पीपराही, झिटकी सहित कई गांवों की हजारों आबादी प्रभावित हो जाएगी।

वहीं लौकही में घोरदह नदी का पानी नरेन्द्रपुर डायवर्सन पर चढ़ जाने के कारण आवागमन पूरी तरह ठप हो गया है। इस नदी पर पुल निर्माण का कार्य चल रहा है। वही जिले के कई निचले इलाकें में नदी का पानी फैलने लगा है। शिवहर में दोपहर के बाद बागमती का जलस्तर में अचानक बढ़ोतरी होने से तबाही बढ़ गई। जिले में इस नदी का का जलस्तर खतरे के निशान से 1.25 मीटर ऊपर बह रहा। अत्यधिक जलदबाव से पिपराही प्रखंड के बेलवा के पास बना सुरक्षा तटबंध टूट गया। पानी आसपास के गांवों में तेजी से फैल रहा है।

मुजफ्फरपुर में बागमती खतरे के निशान से ऊपर रही। लेखनदेई के टूटे तटबंध से पानी गांवों की तरफ प्रवेश कर रहा है। औराई के बभनगावां पश्चिमी बागमती तटबंध के अंदर विस्थापित परिवारों के करीब एक हजार घरों में बाढ़ का पानी दाखिल हो गया है। नाव के सहारे लोग सुरक्षित स्थानों पर जा रहे हैं। कटरा से सोनपुर जाने वाली सोनपुर बांध में तेजी से रिसाव हो रहा है। कभी भी बांध के टूटने की आशंका बनी है। बांध टूटने से, सोनपुर,गोटोली, बंजारी महादलित टोला, सिसवारा गांव डूब जाएंगे। दूसरी तरफ सोनपुर पंचायत के वार्ड नंबर- 12 में बंजारी महादलित टोला में पानी प्रवेश कर गया है।​

सीतामढ़ी में बाढ़ से चार प्रखंड की 17 पंचायत प्रभावित हो चुकी है। सोनबरसा में झीम नदी में डूबने से एक युवक की मौत हो गई। सुरसंड के कुम्मा में एनएच पर रातो नदी के पानी का बहाव तेज हो गया है। बागमती नदी का जलस्तर ढेंग, सोनाखान, डुब्बाघाट, चंदौली व कटौझा में खतरे के निशान से उपर है। कटौझा में तो बागमती लाल निशान से करीब तीन मीटर उपर बह रही है। सोनबरसा में झीम, पुपरी में रातो, बैरगनिया में लालबेकिया नदी का बाढ़ का पानी नये इलाकों में फैल रहा है। बागमती सुप्पी में जमला गांव व बेलसंड में कंसार में काटव कर रही है। ​

दरभंगा के कुशेश्वरस्थान पूर्वी प्रखंड के निचले इलाके में बसी चार पंचायतों में कोसी नदी का पानी धीरे-धीरे फैल रहा है। वहीं कमला बलान का पानी घनश्यामपुर प्रखंड के बाऊर गांव के दो सौ नए घरों में घुस गया। प्रखंड के डूब क्षेत्र में बसे 10 गांवों में संकट और बढ़ गया है। ​

मोतिहारी के संग्रामपुर प्रखंड से पुछरिया गांव का सड़क सम्पर्क भंग हो गया है। पुछरिया गांव में मंगलापुर, नयका टोला व रमना टोला से होकर जाने का रास्ता है, तीनों मार्ग पर 3 फीट तक पानी है। बेतिया में गंडक में उफान से संकट बढ़ गया है। बांध उसपर की बैजुआ पंचायत के दर्जनो गांवो में पानी घुस गया है। इलाके के दो सरकारी स्कूल मध्य विद्यालय बैजुआ पटेरवा और हाई स्कूल जगदीशपुर का भवन पानी में डूब गए हैं।

Next Story