Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Corona Vaccination: इस उम्र के बच्चे कोरोना वायरस से न हों भयभीत, पढ़ें पूरी खबर

Corona Vaccination: बिहार समेत देशभर में 16 जनवरी से कोरोना का टीका लगना शुरू हो गया है। हालांकि पहले चरण में वैक्सीन स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया जा रहा है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के फिल्ड आउटरिच ब्यूरो 'एफओबी', सीतामढ़ी की जानकारी के अनुसार, कोरोना वायरस 18 साल से कम उम्र के बच्चों पर ज्यादा प्रभावी नहीं है।

Delhi Coronavirus Update: दिल्ली में कोरोना की
X

 दिल्ली में कोरोना की 'तीसरी लहर' खत्म

Corona vaccination: बिहार समेत देश के अन्य सभी राज्यों में 16 जनवरी से कोरोना वायरस के खिलाफ जंग शुरू हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, कल से शुरू हुए कोरोना टीकारण अभियान के तहत पहले दिन लगा देश भर के 3352 केंद्रों में 1.91 लाख स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना का टीका लगाया गया। इस बीच कोरोना वायरस को लेकर एक राहत भरी खबर सामने आई है। जिसमें बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस 18 साल से कम उम्र के बच्चों को ज्यादा प्रभावित नहीं कर सकता है।

यह जानकारी सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के फिल्ड आउटरिच ब्यूरो (एफओबी), सीतामढ़ी की ओर से दी गई है। कोरोना वायरस विशेषज्ञ एवं पूर्व महासचिव आईएमए, नई दिल्ली डॉ. नरेद्र सैनी ने बताया कि यह टीका अभी इस उम्र के बच्चों को नहीं लगाया जाएगा। डॉ. नरेद्र सैनी ने बताया कि अभी तक जितने भी शोध एवं परीक्षण हुए हैं, वो सभी 18 साल से अधिक आयु के लोगों पर किए गए हैं। डॉ. नरेद्र सैनी ने कहा कि 18 साल की आयु से नीचे के लोगों को अभी कोरोना वैक्सीन (vaccine) नहीं दी जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि वैक्सीन पर किये गये शोध के दौरान यह भी देखा गया है कि 18 साल से कम उम्र के बच्चों को कोविड-19 (कोरोना वायरस) बीमारी हुई भी है तो ऐसे बच्चों में कोरोना संक्रमण के गंभीर लक्षण नहीं पाए गये हैं।

डॉ. नरेद्र सैनी ने बताया कि हमारा मकसद पहले उन लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाये जाने का है। जिन्हे यह बीमारी लगने पर उनमें इसके गंभीर लक्षण आने की पूरी आशंका है।

कोविड19 वैक्सीन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी: एफओबी

1. कोविड 19 वैक्सीन सुरक्षित और प्रभावी है तथा यह चरणबद्ध तरीके से उपलब्ध होगी।

2. टीकाकरण के बाद भी कोरोना अनुरूप व्यवहार का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए।

3. टीकाकरण के लिए लाभार्थियों का रजिस्टर्ड होना जरूरी है।

4. वैक्सीन उन व्यक्तियों को नहीं दी जाएगी जो पंजीकृत नहीं हैं।

5. कोविड-19 वैक्सीन के साथ-साथ कोरोना अनुरुप व्यवहार भी कोविड-19 संक्रमण से बचाने के लिए जरूरी है।

Next Story