Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Assembly Elections 2020: तेजस्वी ने स्वर्ण जातियों के खिलाफ की आपत्तिजनक टिप्पणी, सुशील मोदी ने वीडियो जारी कर जताई नाराजगी

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: राजद एवं महागठबंधन नेता तेजस्वी यादव की आज चुनावी जनसभा के दौरान जुबान फिसल गई। इस दौरान वे स्वर्ण जातियों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी कर बैठे। मामले पर भाजपा नेता सुशील मोदी ने नाराजगी जाहिर की है।

bihar assembly elections 2020 tejashwi yadav objectionable statement against golds sushil modi angry
X

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: तेजस्वी यादव ने स्वर्ण जातियों खिलाफ दिया आपत्तिजनक बयान, मामले पर सुशील मोदी ने नाराजगी जाहिर की है।

Bihar Assembly Elections 2020: बिहार में सोमवार को पहले चरण के विधानसभा के चुनावों के लिये प्रचार-प्रसार का अंतिम दिन रहा। जिसको लेकर सूबे में हर सियासी दल मतदाताओं को लुभाने का हर प्रयास करता हुआ नजर आया। इसी को लेकर सोमवार को रोहतास की जनसभा में राजद नेता एवं महागठबंधन से सीएम पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव की जुबान फिसल गई। वहीं वो अंजाने में स्वर्ण जातियों के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दे बैठे। सोशल मीडिया में चल रही खबरों में ऐसे आरोप लगाये गये हैं। वहीं कोरोना संक्रमण को लेकर पटना एम्स अस्पताल में भर्ती बिहार के डिप्टी सीएम एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने भी तेजस्वी यादव पर ऐसे ही आरोप लगाये हैं। भाजपा नेता सुशील मोदी ने मामले को लेकर पटना एम्स से वीडियो जारी किया है। जिसमें उन्होंने स्वर्ण जातियों के खिलाफ तेजस्वी यादव द्वारा की गई आपत्तिजनक टिप्पणी की घोर निंदा की है। सुशील मोदी ने मामले पर ट्वीट कर लिखा कि राजद नेता तेजस्वी यादव ने सोमवार को रोहतास की सभा में सवर्ण जातियों के बारे आपत्तिजनक टिप्पणी की है। सुशील मोदी ने कहा कि राजद ने पूर्व में भी राजद ऊंची जातियों के मिले 10 आरक्षण का भी विरोध किया था।



तेजस्वी के बोले- लालू राज में आम आदमी बाबूसाहब के सामने सीना तान कर चलता था

राष्ट्रीय जनता दल 'राजद' के आधिकारिक ट्विटर अकांउट से भी ट्वीट कर तेजस्वी यादव की सभा की जानकारी दी गई है। जिसमें वो कह रहे हैं कि नीतीश कुमार के राज में जनप्रतिनिधियों और आम आदमी की कोई सुनवाई नहीं होती। आगे तेजस्वी यादव कह रहे हैं कि लालू यादव के राज में गरीब लोग अधिकारी यानि बाबूसाहब के सामने सीना तान के चलता था।

Next Story