Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Assembly Elections 2020: राजद ने अलग से भी जारी किया 'हमारा प्रण' के नाम से घोषणा पत्र, तेजस्वी ने भाजपा पर साधा निशना

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: राष्ट्रीय जनता दल 'राजद' ने महागठबंधन के बाद अब अपना अलग से भी घोषणा पत्र 'हमारा प्रण' के नाम से जारी किया है। इसमें 10 लाख नौकरी देने का वायदा किया गया है। इस मौके पर तेजस्वी यादव ने कहा कि भाजपा नौकरियां देने के नाम पर जनता को बेवकूप बनाने की कोशिश कर रही है।

bihar assembly elections 2020 rjd also issued separate manifesto tejashwi targeted bjp
X

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: राष्ट्रीय जनता दल 'राजद' ने अपना अलग से भी घोषणा पत्र जारी किया है। 

Bihar Assembly Elections 2020: आगामी विधानसभा चुनाव के लिए तेजस्वी यादव ने राष्ट्रीय जनता दल 'राजद' का अलग से घोषणा पत्र भी जारी किया है। इससे पहले महागठबंधन की ओर से साझा घोषणा पत्र भी जारी किया जा चुका है। पार्टी का घोषणा पत्र जारी करने के दौरान पटना में प्रेस वार्ता के दौरान राजद नेता एवं महागठबंधन से सीएम पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव के साथ पार्टी प्रवक्ता मनोज कुमार झा और श्याम रजक समेत अन्य नेता मौजूद रहे।

घोषणा पत्र जारी करने के दौरान तेजस्वी यादव ने भाजपा और जदयू को निशाने पर भी लिया। तेजस्वी यादव ने कहा कि भाजपा वाले बताएं कि उनका मुख्यमंत्री का चेहरा कौन है, नीतीश कुमार हैं? वहीं तेजस्वी यादव ने कहा कि उनके सीएम चेहरा नीतीश कुमार ने तो 10 लाख नौकरियों पर ही हाथ खड़े कर दिए थे कि इतनी नौकरियां कहां से देंगे। तो बीजेपी कहां से देगी इतनी नैकरियां। वहीं तेजस्वी यादव ने कहा कि एनडीए का नेतृत्व तो नीतीश कुमार कर रहे हैं, तो ये बेवकूफ किसे बना रहे हैं?



राजद का यह घोषणा पत्र 'हमारा प्रण' नाम से 16 पेजों का जारी किया गया है। घोषणा पत्र में राजद की सरकार बनने पर कैबिनेट बैठक में पहली दस्तखत के साथ नए स्थायी पदों का सृजन कर कुल 10 लाख नौकरियां देने की बात कही गई है। इस दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि यह कोई घोषणा पत्र नहीं, बल्कि हमारा प्रण है। तेजस्वी ने कहा कि राष्ट्रीय जनता दल के इस घोषणा पत्र में पार्टी प्रमुख लालू प्रसाद यादव व पूर्व सीएम राबड़ी देवी के विचारों को भी शामिल किया गया है। इस मौके पर तेजस्वी यादव ने राष्ट्रीय जनता पार्टी का कैंपेन सांग भी जारी किया।

सूने राजद का कैंपेन सॉन्ग-

आओ भैया

आओ बाबू

आओ आओ नौजवान

आओ अम्मा

आओ बहना

आओ जी मज़दूर किसान

लालटेन के उजियारे से हर अंधियार मिटाएं

झूठ कपट छल करने वाली ये सरकार हटाएं

आओ, आओ जी आओ आओ

ऐसा बिहार बनाएं, ऐसा बिहार बनाएं,

सुख सुविधाओं वाला एक खुशहाल बिहार बनाएं


जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय जनता दल के घोषणा पत्र में उच्च शिक्षा, रोजगार, संविदा कर्मियों को स्थाई, स्मार्ट गांव, स्वंय सहायता समूह व उद्योगों के आधार भूत संरचना समेत कुल 17 मुद्दों को शामिल किया गया है।

राजद के घोषणा पत्र के मुख्य बिंदु

घोषणा पत्र में कहा गया कि नए स्थायी पदों का सृजन कर कुल 10 लाख नौकरियों की प्रक्रिया पहले ही कैबिनेट बैठक में पहली दस्तखत के साथ शुरू होगी।

राजद के घोषणा पत्र में वायदा किया गया कि रोजगार सृजन के उद्योगों को प्रोत्साहन हेतु नई औद्योगिक नीति के तहत प्रभावी टैक्स डिफरेंट एवं टैक्स वेइवर स्कीम लाई जाएगी, जिसमें नए उद्योगों की स्थापना के अंतर्गत किए गए निवेश निवेशकों में सब्सिडी एवं अधिक रोपित करों में एक निश्चित अवधि तक छूट मिलेगी।

घोषणा पत्र में संविदा प्रथा को समाप्त कर सभी कर्मचारियों को स्थाई कर समान काम समान वेतन दिया जाएगा। साथ ही सभी विभागों से निजीकरण को समाप्त किये जाने का वायदा किया गया है

घोषणा पत्र के अनुसार नियोजित शिक्षकों को वेतनमान कार्यपालक सहायकों लाइब्रेरियन उर्दू शिक्षकों की बहाली की जाएगी। बिहार के मूलनिवासी युवाओं के भी सरकारी बहाली परीक्षाओं में फॉर्म निशुल्क होंगे। राज्य के अंदर अंतर्गत गृह जिला से परीक्षा केंद्र तक की यात्रा मुक्त होगी।

राजद के घोषणा पत्र में हेल्थ केयर सेक्टर में निजी और असंगठित क्षेत्रों के माध्यम से प्रत्यक्ष नौकरियों व परोक्ष रोजगार के लाखों अवसर पैदा किए जाने का वायादा किया गया।

राजद की ओर से कहा गया कि सांख्यिकी स्वयं सेवक, कार्यालय सहायक, लाइब्रेरियन, आंगनबाड़ी सेविका एवं सहायिका, उर्दू शिक्षकों, आशा कर्मी, ग्रामीण चिकित्सकों, जीविका दीदियों की मांगों को पूरा किया जाएगा।

घोषणा पत्र के अनुसार जीविका कैडरों को नियमित वेतनमान पर स्थाई नौकरी के साथ समूहों के सदस्यों को ब्याज मुक्त ऋण दिया जायेगा।

राज्य में कॉरपोरेट जगत के तकनीकी प्रशिक्षकों की देखरेख में सरकारी निर्देशानुसार कौशल विकास केंद्रों की स्थापना होगी। जहां परंपरागत कौशल के साथ उद्योग जगत के प्रश्न कौशल सॉफ्ट स्किल्स का भी प्रशिक्षण दिया जाएगा।

घोषणा पत्र के अनुसार प्रत्येक जिले में रोजगार केंद्रों की स्थापना होगी। अधिकतम 200 दिनों में कौशल योग्यता अनुरूप निजी व सरकारी उपक्रम में रोजगार देने या रोजगार के विकल्प उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी होगी।

रोजगार प्रक्रिया में गैर-सरकारी बिचौलियों एजेंसियों को हटाकर सीधा युवाओं को लाभ दिये जाने का वायदा किया गया

राजद के घोषणा पत्र के अनुसार बिहार में किसान आयोग, व्यवसायी आयोग, युवा आयोग व खेल आयोग का गठन होगा

Next Story