Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार विधानसभा चुनाव: औरंगाबाद रैली में जेपी नड्डा का विपक्ष पर निशाना, बोले अराजकता फैलाने वाले क्या बिहार का विकास करेंगे?

मार्च महीने से लेकर छठ और दीपावली तक मोदी जी ने 80 करोड़ की जनता को प्रति व्यक्ति पांच किलो गेहूं/चावल और प्रति परिवार एक किलो दाल देने का काम किया।

जेपी नड्डा बोले - बिहार को लालटेन और एलईडी युग में से किसी एक को चुनना है
X

जेपी नड्डा

बिहार विधानसभा चुनाव का रण जीतने के लिए सभी राजनीतिक दलों के नेता ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। इस दौरान नेता वोटरों को लुभाने की कोई भी कसर नहीं छोड़ रहे हैं। इसी क्रम में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने औरंगाबाद में एक पब्लिक रैली को संबोधित किया है। इस दौरान जेपी नड्डा ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। बीजेपी टि्वटर के मुताबिक जेपी नड्डा ने पब्लिक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव में आज हमारे उम्मीदवार विकास की बात करते हैं। सरकार की उपलब्धियां बताते हैं। लेकिन 15 साल पहले जब बिहार में कोई चुनावी सभा करता था तो जाति, धर्म की बात होती थी, समाज को बांटने की बात होती थी। नरेंद्रन मोदी जी के आने के बाद राजनीति में ये बदलाव आया है। कोरोना संक्रमण के समय जब लॉकडाउन लगा तब हमारे पास मात्र एक टेस्टिंग लेबोरेटरी थी और आज हमारे पास 1600 टेस्टिंग लैब हैं। पहले 1500 टेस्टिंग प्रतिदिन होती थी और आज 15 लाख टेस्टिंग प्रतिदिन हो रही है।

मार्च महीने से लेकर छठ और दीपावली तक मोदी जी ने 80 करोड़ की जनता को प्रति व्यक्ति पांच किलो गेहूं/चावल और प्रति परिवार एक किलो दाल देने का काम किया। पहले दो घंटे ही बिजली आने पर हम खुश हो जाते थे। किसान तब जनरेटर लगाकर अपनी जरूरत पूरी करता था। नरेंद्र मोदी जी ने 1,000 दिन में करीब 18,000 गांवों में बिजली पहुंचाई। बिहार में करीब 66 लाख लोगों तक बिजली पहुंचाई गई है। आज मोदी जी के नेतृत्व में जल, थल, नभ के सभी बॉर्डर सुरक्षित हैं।

पिछले छह साल में मोदी जी ने अरुणाचल प्रदेश से लेकर गलवान घाटी तक 4,700 किमी की चार लेन सड़क पूर्ण हो चुकी है। जबसे NDA के साथ नीतीश कुमार का गठबंधन हुआ है तबसे बिहार ने विकास की तीव्र गति पकड़ी है। आरजेडी वाले वही लोग हैं, जिन्होंने बिहार में अराजकता फैलाई थी, प्रदेश में अपहरण उद्योग चलाया, प्रदेश के लोगों को पलायन के लिए मजबूर किया।

अराजकता फैलाने वाले क्या बिहार का विकास करेंगे? ये वही लोग हैं जिन्होंने बिहार में अराजकता फैलाई थी। गुंडागर्दी चरम पर थी, अपरहण एक उद्योग बन गया था। बिहार पलायन कर रहा था और आज ये लोग नौकरी देने की बात कर रहे हैं। कुछ लोग चुनाव में षड्यंत्र करते हैं, वो चाहते हैं कि हमारे बीच सेंध लगे। याद रखना कि एनडीए एक है। हमें सेंध लगाने वालों से भी सावधान रहना है।

Next Story