Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Assembly Elections 2020: जदयू ने विरोधियों के घोषणा पत्रों पर उठाये सवाल, कांग्रेस से पूछा- 58 वर्षों में आपने क्या किया?

Bihar Assembly Elections 2020: जदयू नेता राजीव रंजन ने कांग्रेस व एलजेपी की ओर से जारी किये गये घोषणा पत्रों पर सवाल उठाये हैं। राजीव रंजन ने कहा कि कांग्रेस व राजद को बताना चाहिये कि उन्होंने 58 वर्षों में बिहार में क्या किया है।

bihar assembly elections 2020 jdu leader rajiv ranjan targeted congress manifestos
X

जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद

Bihar Assembly Elections 2020: बिहार में एक ओर तो विधानसभा के चुनावों को लेकर जोर-शोर से प्रचार-प्रसार जारी है। दूसरी ओर सूबे में वोटरों को लुभाने के लिये सियासी दलों द्वारा घोषणा पत्र जारी किये जा रहे हैं। आपको बता दें बुधवार को दो प्रमुख सियासी दलों कांग्रेस और एलजेपी की ओर से उनके अलग-अलग घोषणा पत्र जारी किये गये। जिन पर जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने बुधवार को सोशल मीडिया के माध्यम से सवाल उठाये हैं।

जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने बुधवार को कांग्रेस की ओर से जारी किये गये घोषणा पत्र को झूठ का पूलिंदा बताया है। राजीव रंजन ने कहा कि कांग्रेस का यह घोषणा पत्र अविश्वसनीय वादों पर आधारित है। आगे राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि आजादी के बाद कांग्रेस द्वारा बिहार में किये गये शासन में यदि राजद के 15 वर्षों को भी जोड़ दिया जाये। तो कुल मिलकर कांग्रेस और राजद ने बिहार में 58 वर्षों तक शासन किया है। वहीं रजीव रंजन प्रसाद ने कांग्रेस और राजद से पूछा कि आप दोनों ने 58 वर्ष शासन करने के बाद भी बिहार के लोगों की किसी बुनियादी जरूरतों का विकास क्यों नहीं किया है।

जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान पर भी वंशवाद की सियासत को बढ़ावा देने के आरोप लगाये हैं। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता को चिराग पासवान से कुछ अलग हटकर ही उम्मीदें थी। लेकिन वे उनकी उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे हैं। चिराग पासवान ने भी आम लोगों की जगह अपने की परिवार को राजनीति में आगे बढ़ाने का काम किया है। इस वजह से चिराग पासवान सूबे में पिछले पायदान पर आ गये हैं।

जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि एलजेपी के विजन डॉक्यूमेंट को लेकर कहीं न कहीं एक बार फिर चिराग पासवान ने ढाक के तीन पात जैसी स्थिति पैदा कर दी है। राजीव रंजन ने दावा किया कि दरअसल बिहार में कई सवालों पर पहले से काम हो रहा था। जिनको चिराग पासवान ने अपनी पार्टी के विजन डॉक्यूमेंट में जगह दी है। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि चिराग पासवान की महत्वकांक्षाएं असीम हैं। लेकिन बिहार में इनकी पार्टी का जनाधार शून्य है।

नीतीश कुमार को तो छोड़ दें, मुझसे बहस कर सकते हैं तेजस्वी यादव: राजीव रंजन प्रसाद

राजद नेता एवं महागठबंधन की ओर से सीएम प्रत्याशी तेजस्वी यादव ने आज ट्वीट कर नीतीश कुमार को खुली बहस की चुनौती दी थी। इस पर जदयू नेता राजीव रंजन ने तेजस्वी यादव के खिलाफ पलटवार किया है। राजीव रंजन ने कहा कि तेजस्वी यादव नीतीश कुमार से तो खुली बहस करने की बातें ही छोड़ दें। राजीव रंजन ने कहा कि तेजस्वी यादव मुझसे ही बहस कर लें। राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि नीतीश कुमार से पहले बिहार पूरी तरह से बदहाल था। सूबे में अराजकता का माहौल था। राजीव रंजन ने कहा कि नीतीश कुमार ने जिस बदहाल व्यवस्था से बिहार को निकालने का कार्य किया है। उसके लिए पूरा बिहार नीतीश कुमार का आभारी है। जदयू प्रवक्ता ने दावा किया कि बिहार में नीतीश कुमार द्वारा हर क्षेत्र में बेहतरीन कार्य किए गए हैं। नीतीश कुमार के उन्हीं बेहतरीन कार्यों की का नतीजा है कि आज बिहार खुशहाल है।

Next Story