Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: भाजपा ने लालू यादव के 1990 के दशक की आपराधिक वारदातों को लेकर जारी किया वीडियो

Bihar Assembly Elections 2020: भाजपा ने सोशल मीडिया पर विधानसभा के चुनावों को लेकर एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में लालू यादव के 1990 के दशक राज के आपराधिक वारदातों को रखा गया है। इसके अलावा भाजपा ने 1990 के उस काल से आज तेजस्वी यादव व तेज प्रताप यादव की तुलना की है।

bihar assembly elections 2020 bjp released video against lalu yadav
X

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: भाजपा ने लालू यादव के 1990 के दशक की आपराधिक वारदातों को लेकर जारी किया वीडियो।

Bihar Assembly Elections 2020: भाजपा ने राजद को विधानसभा के चुनावों के दौरान घेराने के लिये सोशल मीडिया के जरिये सोमवार को एक वीडियो शेयर किया है। भाजपा द्वारा तैयार इस वीडियो में 1990 के दशक में राजद प्रमुख लालू यादव के राज में घटित हुई विभिन्न भयानक आपराधिक वारदातों को इसमें जगह दी गई है। वीडियों में बताया गया है कि उस दौरान में बिहार में हर जगह गोलियों की तड़तड़ाट रहती थी। जुल्म और हत्याओं का दौर था। कोई सुरक्षित नहीं था। उस दौर के स्कूलों को भाजपा द्वारा चरवाहा स्कूल बोला गया है। भाजपा ने उस दौरान पशुओं की भी हत्यायें करने का जिक्र किया है। जिसके माध्यम से उनके हिस्से का चारा हड़पकर घोटाले को अंजाम दिया जाता था। भाजपा ने कहा कि लालू यादव के उस राज को को 'ज' से जंगल राज बोला जाता था।



वीडियो में भारतीय जनता पार्टी द्वारा लालू यादव को एक बड़ा आपराधिक छवि वाला व्यक्ति करार दिया गया है। भाजपा ने वीडियो में लालू यादव के बेटों तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव को भी आज बिहार में लालू यादव के कदमों पर चतते हुये बताया गया है। भाजपा ने कहा कि पूर्व में जैसे लालू यादव ने बिहार की जनता को गुमराह किया था। आज उन्हीं लालू यादव के नक्शे कदमों पर चलकर तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव सूबे की जनता को विधानसभा के चुनावों के दौरान गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं। भाजपा ने कहा कि तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव जनता का शोषण करने की साजिश रच रहे हैं। वहीं भाजपा ने दावा किया कि बिहार की जनता सब जानती है। बिहार चुनाव में तेजस्वी यादव व तेज प्रताप यादव की हार होगी व जनता इनके झांसे में नहीं आयेगी।

भाजपा ने वीडियो में उस दौर के अपराधियों के सिर पर लालू यादव का हाथ होने का आरोप लगाया है। साथ ही भाजपा ने लालू यादव पर अपने काम को हल करने के लिये इन अपराधियों का इस्तेमाल का आरोप लगाया है। वीडियो में आपराधिक वारतातों को अक्षरों के माध्यम से रेखांकित किया गया है। वीडियो में भाजपा ने उस दौर के कुख्यात अपराधियों के नाम का भी खुलासा किया है। भाजपा ने मोहम्मद शहाबुद्दीन को उस दौर का कुख्यात अपराधी करार दिया है। साथ ही इसे लालू यादव का करीबी भी बताया है। बताया गया कि उस दौर में मोहम्मद शहाबुद्दीन सूबे में डर का माहौल कायम कर रखा था। बताया गया कि शहाबुद्दीन भय का माहौल बनाने के लिये दो लोगों को तेजाब से जला दिया था। भाजपा ने इन सभी वारदातों को सूबे के पलायन के लिये जिम्मेदार ठहराया है। उस दौरान ठेकेदारी को लेकर खून की होली खेले जाना भी आम था। टेंडर पाने के लिये उस दौर में लालू यादव के करीबी रीत लाल यादव द्वारा सूबे में खूनी होली खेले जाने के आरोप भाजपा ने लगाये हैं।

Next Story