Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Assembly Elections 2020: वर्चुअल रैली में बोले नीतीश, कोरोना काल में लोगों को दिया है अनाज

Bihar Assembly Elections 2020: जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने वर्चुअल रैली में कहा कि बिहार सरकार ने कोरोना काल में लोगों की आर्थिक मदद की। अनाज दिया पर हमारी आदत नहीं है कि बेवजह प्रचार करें। पर लोग सवाल करते रहते हैं तो जवाब देना ही पड़ता है। इसके अलावा नीतीश कुमार ने बिहार में एनडीए सरकार द्वारा कराये जो रहे विकास कार्यों को भी गिनवाते नजर आये।

bihar assembly election 2020 nitish kumaar said in virtual rally gives food to people in corona
X

बिहार विधानसभा चुनाव: नीतीश कुमार ने की वर्चुअल रैली। 

Bihar Assembly Elections 2020: जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने मंगलवार को 5 जिलों की 11 विधानसभाओं के लोगों के साथ वर्चुअल संवाद किया। जिनमें मकोमा, मसौढ़ी, कुर्था, पालीगंज, जहानाबाद, घोसी, संदेश, अगिआंव, डुमरांव और राजपुर शामिल हैं। संबोधन के दौरान नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस दुनिया भर में फैला हुआ है। कोई नहीं जानता संक्रमण ऊपर जाएगा या नीचे, बिहार में नीचे गया। इसके लिए हमने काम किया है। 22 लाख लोगों को ट्रेन के माध्यम से लाया गया। 15 लाख लोगों को क्वारंटीन करने की व्यवस्था की गई।



नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना काल में हमने लोगों की आर्थिक मदद की। बिहार के लोगों को हमने अनाज दिया है। लेकिन हमारी आदत नहीं है कि बेवजह प्रचार करें। लेकिन जब लोग हमसे सवाल करते रहते हैं तो बताना ही पड़ता है।

नीतीश कुमार ने कहा कि 15 लाख लोगों को क्वारंटाइन सेंटर में 14 दिनों तक रखा गया। साथ इन सभी लोगों का समुचित ख्याल रखा गया। हर आदमी के ऊपर 5300 रुपये खर्च किये गए हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोन संक्रमण से निपटने के लिये जितना हमने इंतज़ाम किया है। उतने का तो इस्तेमाल भी नहीं हो पा रहा है। लेकिन फिर भी सभी संसाधन उपलब्ध करवाए गए हैं।

नीतीश कुमार ने कहा कि हमने कहा था कि बिहार में कानून का राज स्थापित करेंगे, न्याय के साथ विकास करेंगे व हर तबके का विकास करेंगे। नीतीश कुमार ने कहा कि हमने यह सब करके दिखा दिया है।

वर्चुअल रैली के दौरान नीतीश कुमार ने लालू-राबड़ी की पूर्व सरकारों को भी निशाने पर लिया। नीतीश कुमार ने कहा कि हम लोगों ने काम किया है। हमसे पहले पति-पत्नी को राज मिला उन्होंने क्या किया? कानून की क्या स्थिति थी? लोग सही कहते हैं कि नई पीढ़ी को बताना चाहिए बिहार में जंगलराज के बारे में।

नीतीश कुमार ने विरोधियों पर निशाना साधते हुये कहा कि लोग विकास की बात करते हैं। लेकिन उनको पता ही नहीं है कि बिहार का कितना विकास हुआ है। पूरे राज्य की वृद्धि हुई है। कोई यहां उद्योग नहीं लगाना चाहता, क्योंकि यहां समुद्र नहीं है। इसलिए हम स्थानीय स्तर पर उद्योग लगाने के लिए काम कर रहे हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि आज जीडीपी 'GDP' 2006-07 के 88 हज़ार करोड़ से 4 लाख 14 हजार 977 करोड़ हो गया है। बिहार में प्रति व्यक्ति आय 34 हज़ार 483 रुपये हो गई है।

नीतीश कुमार ने शिक्षा पर बोलते हुये कहा कि हमने बिहार में बच्चों-बच्चियों की पढ़ाई के लिए काम किया। पहले पूरे बिहार में 1 लाख 70 हजार से भी कम लड़कियां स्कूल जाती थी। लेकिन अब बिहार में 9 लाख से भी ज्यादा हो गई। बिहार में प्रजनन दर को हम लोगों ने कंट्रोल किया है। नीतीश कुमार ने कहा कि लोगों को शिक्षित करने से ऐसा हुआ है।

नीतीश कुमार बोले- हमने शिक्षा को लेकर किया है काम

नीतीश कुमार ने कहा कि हमने लड़कियों की शिक्षा के लिए काम किया, इस बार मैट्रिक की परीक्षा में लड़कियों की संख्या लड़कों से ज्यादा थी। जो बच्चे स्कूल से वंचित थे उनको स्कूल पहुंचाने का काम किया। नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में लड़कियों के लिए आरक्षण दिया गया। इसका प्रभाव दिखा लड़कियां पढने लगीं हैं। आगे बढ़ने लगीं व लड़कियों की हर क्षेत्र में भागीदारी बढ़ी है। इसको आगे भी हर क्षेत्र में लागू करेंगे।

नीतीश कुमार ने बताया कि पहले इन लोगों ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्या काम किया था? हमने 2006 में एक सर्वे कराया था तब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 1 महीने में 39 लोग आते थे। हमने व्यवस्थाएं सुधारी, अब 1 महीने में 10 हजार के करीब लोग आते हैं।

नीतीश कुमार ने कहा कि हमारे विद्यार्थी इंजीनियरिंग, मेडिकल पढ़ने के लिए बाहर जाते थे। हमने राज्य में ही पढ़ने के लिए व्यवस्था की। संस्थान शुरू किए, स्टूडेंट्स को क्रेडिट कार्ड के माध्यम से सहायता दी।

नीतीश कुमार ने कहा कि 7 सितंबर को हमने जो कार्यक्रम किया। उसमें हमने हर काम का ब्यौरा दिया। जो काम बाकी हैं वो भी पूरे हो जाएंगे। हमने कृषि रोड मैप के द्वारा किसानों के लिए काम किया।

हमने एससी/एसटी वर्ग को मुख्य धारा से जोड़ा : नीतीश कुमार

नीतीश कुमार ने कहा कि जो किनारे थे समाज में, एससी/एसटी वर्ग, अल्पसंख्यक समाज, अतिपिछड़ा समाज सबके लिए अनेक योजनाएं बनाई हैं। उनको मुख्य धारा से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि हमने उद्यमी योजना की हमने शुरुआत की है। अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति वर्ग को लोन दे रहे हैं, अनुदान दे रहे हैं।

Next Story