Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Assembly Elections 2020: जदयू ने अपने घोषणा पत्र में सात निश्चय पार्ट-2 पर किया फोकस, वशिष्ठ नारायण बोले- जनता जानती है परिवर्तन

Bihar Assembly Elections 2020: भाजपा का चुनावी घोषणा पत्र जारी होने के बाद जदयू ने पटना में प्रेस वार्ता कर अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। जदयू के घोषणा पत्र में सात निश्चय पार्ट 2 पर फोकस किया है। घोषणा पत्र जारी करने के दौरान जदयू नेता वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि बिहार की जनता ने 15 वर्षों में हमारी सरकार ने क्या परिवर्तन किया है।

bihar assembly election 2020 jdu issues manifesto
X

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: जदयू ने पटना में प्रेस वार्ता कर अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है।

Bihar Assembly Elections 2020: बिहार में विधानसभा के चुनावों को लेकर भारतीय जनता पार्टी 'भाजपा' की ओर से गुरुवार को चुनावी घोषणा पत्र जारी किया। इसके बाद अब जदयू ने भी गुरुवार को ही प्रेस वार्ता कर पार्टी की ओर से विधानसभा के चुनावों को लेकर अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दिया है। जानकारी के अनुसार जदयू की ओर से जारी किये गये चुनावी घोषणा पत्र में इस बार सात निश्चय पार्ट 2 पर ध्यान स्थिर किया गया है। पार्टी का घोषणा पत्र जारी करने के दौरान जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, पार्टी कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष डॉ अशोक चौधरी और पार्टी प्रवक्ता अजय आलोक समेत अन्य नेता मौजूद रहे। इस दौरान जदयू के इन तीनों वरिष्ठ नेताओं ने विरोधियों पर जमकर हमले बाले, साथ ही अपनी सरकार की उपलब्धियां भी गिनवाईं।

जदयू ने पिछली बार के घोषणा पत्र मे सात निश्चय को रखा था। जिनको जदयू के वरिष्ठ नेता वशिष्ठ नारायण सिंह की ओर से पूरा कर देने के दावे किये गये हैं। इस बार जदयू की ओर से अपने चुनावी घोषणा पत्र में सात निश्चय पार्ट- 2 पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

सात निश्चय पार्ट 2 ......

1. इस बार जदयू ने युवा शक्ति बिहार की प्रगति का निश्चय किया

2. पार्टी की ओर से सशक्त महिला, सक्षम महिला बनाने पर भी निश्चय किया गया।

3. जदयू ने इस बार हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने का वायदा किया

4.पार्टी ने सभी गांवों को स्वच्छ व समृद्ध गांव बनाने पर फोकस किया

5. जदयू ने शहर को स्वच्छ, विकसित शहर का बनाने का वायादा किया

6. पार्टी ने सुलभ संपर्कता स्थिापित करने पर जोर दिया

7. बिहार में सभी लोगों लिए स्वास्थ्य सुविधायें उपलब्ध कराने की बात कही

समाज में निश्चित ही हुआ 'शराबबंदी का असर': वशिष्ठ नारायण सिंह

पटना में पार्टी का घोषणा पत्र जारी करने के दौरान जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने अपनी सरकार की उपलब्धियां भी जनता के सामने रखी। उन्होंने कहा कि राजधर्म होता है। सामाजिक दायित्व को निभाना व उसे बनाये रखना और समाज को देखते हुए राज्य के खजाने के बारे में सोचना, शराबबंदी से राज्य के खजाने पर असर हुआ न हुआ हो समाज में निश्चित ही हुआ है। 15 वर्षों में क्या परिवर्तन हुआ है। जनता ने देखा है और जानती है।

प्रदेश की जनता को बहका रहें विरोधी: जदयू

विरोधियों को निशाने पर लेते हुये वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि झूठे घोषणा पत्र का प्रचार करके ये लोग जनता को बहका रहे हैं। उनको बरगला रहे हैं। इन्हें न काम की कोई जानकारी व ना वित्तीय कार्यों की, ना जनता के प्रति दायित्व, कुछ भी नहीं आता है इनको। ये राज करना चाहते हैं। जदयू नेता ने कहा कि ज़िम्मेदारी के साथ शासन करना इनको आता ही नहीं है।

वशिष्ठ नारायण सिंह ने दावा किया कि पहला 7 निश्चय पूर्ण हो चुका है। अब 7 निश्चय 2 की बारी है और हमारे नेता नीतीश कुमार का संदेश भी जनता के लिए यही है।

अशोक चौधरी ने पूछा- वो 10 लाख नौकरियां देने के लिये कहां से लायेंगे राजस्व ?

जदयू कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष डॉ अशोक चौधरी ने इस दौरान महागठबंधन के 10 नौकरियां दिये जाने के वायदे पर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि ये बोल रहे हैं, हम 10 लाख नौकरियां देंगे। हमारा कहना है हम बिहार को सक्षम और स्वावलंबी बनाएंगे। युवाओं को इतना सक्षम बनाएंगे कि वे अपने साथ दूसरों को भी रोजगार दे सकें।

अशोक चौधरी ने कहा कि वो यहां के नौजवानों को बेवकूफ़ बनाकर एवं उन्हें बरगला कर गद्दी अपनाना चाहते हैं। जो प्लान इन लोगों ने बनाया है। उसके लिए पांच लाख करोड़ का बजट चाहिए। उनको यह बताना चाहिए की ये पैसा इतना राजस्व कहां से लाएंगे?

ये जो हमारे युवराज है इन्हें यहां कांग्रेस ने थोपा है: अजय आलोक

इस दौरान जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने नाम लिये बिना तेजस्वी यादव पर निशाना साधा। अजय आलोक ने कहा कि ये जो हमारे युवराज है। इनको यहां पर कांग्रेस ने थोपा है ठीक उसी तरह जिस तरह से 1990 में बिहार को इन्होंने लालू यादव को सौंप दिया था और 2004 में समस्त भारत को अपने युवराज को और अब ये लोग लालू के अनपढ़ लालों को बिहार पर थोपना चाहते हैं।

अजय आलोक ने कहा कि ये बिहार में 10 लाख मंगरुआ खोज रहे हैं। इनसे युवाओं को बस एक ही सवाल करना है मंगरुआ के ज़मीन कब लौटा रहे हैं? अजय आलोक ने आरोप लगाया कि बाकी सबकी जमीन लिखवाई सांसद, मंत्री, विधायक बनाने के लिए, यहां तक की अपने चाचा को भी नहीं छोड़ा। मंगरु यादव की भी ज़मीन हड़प ली इसलिए युवाओं से एक ही बात कहना है। जब भी ये रोजगार का झूठा वादा करें। इनसे बस ये सवाल कीजिये मंगरु यादव की ज़मीन कब लौटाइयेगा?

Next Story