Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Gulab Cyclone के असर के चलते बिहार में अलर्ट जारी, नालंदा समेत इन जिलों में बारिश के साथ हो सकता है वज्रपात

गुलाब तूफान की वजह से जहां आंध्र प्रदेश के कई जिले प्रभावित हैं। वहीं मौसम विभाग ने बिहार के कई जिलों को लेकर भी अलर्ट जारी किया है। कहा गया है कि समस्तीपुर, नालन्दा और वैशाली समेत कई जिलों मे तेज हवा के साथ बारिश हो सकी है।

Alert issued in Bihar due to effect of Gulab Cyclone bihar latest news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बंगाल के चक्रवातीय गुलाब (Gulab Cyclone) का प्रभाव अब सीधे तौर पर बिहार (Bihar) पर भी पड़ने वाला है। इस संबंध में जहां पहले ही मौसम विभाग की ओर से 72 घंटों का तेज हवा के साथ बारिश की चेतावनी (Rain Alert) जारी की गई है। दूसरी ओर बिहार में आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से भी भारी वज्रपात को लेकर चेतावनी (thunderstorm warning) जारी की गई है। इस दौरान जनता से सतर्कता बरतने को कहा गया है। आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से राज्य के कई हिस्सों के लिए चेतावनी जारी की गई है।

आपदा प्रबंधन विभाग ने बक्सर जिले के बक्सर, राजपुर, इटाढ़ी, चौसा, ब्रह्मपुर केसठ, नावानगर, चक्की, चैगाई, सिमरी, डुमराव प्रखंड, रोहतास जिला में चेनारी, करगहर, कोचस, सासाराम, नोखा, डेहरी, नौहट्टा, रोहतास, अकोढ़ीगोला, तिलौथु, काराकाट, बिक्रमगंज, नासरीगंज, दावथ, सूर्यपुरा, दिनारा प्रखंड, वहीं कैमूर जिले के लिए भगवानपुर, चैनपुर, चांद, भभुआ, रामपुर, कुदरा, दुर्गावती, मोहनिया, रामगढ़, नुआंव प्रखंड के लिए चेतावनी जारी की है। इसके अलावा भोजपुर जिला के आरा, बड़हारा, कोईलवर, अगिआंव, उदवंतनगर, सन्देश, सहार, गड़हनी, पीरो, चरपोखरी, तरारी, बिहिया, जगदीशपुर और शाहपुर प्रखंड के लिए चेतावनी जारी हुई है। आपदा प्रबंधन विभाग ने सिवान जिले में गोरेयाकोठी, बसंतपुर, भगवानपुर हाट, लगरी नबीगंज, महाराजगंज, दरौंधा, बरहरिया, हसनपुरा, गुठनी, हुसैनगंज, आंदर, दारौली, मैरवा, नौतन, रघुनाथपुर, सिसवन, सीवान सदर प्रखंड व मुंगेर जिले के लिए मुंगेर सदर, बरियापुर, धरहरा, जमालपुर, खड़गपुर, तारपुर, असरगंज, टेटिया बम्बर और संग्रामपुर प्रखंड में चेतावनी जारी हुई है। ऐसे ही बांका जिले में बांका, बाराहाट, अमरपुर, बेलहर, चान्दन, बौंसी, धोरैया, फुल्लीडूमर, कटोरिया, रजौन, शम्भूगंज प्रखंड के लिए चेतावनी जारी हुई है।

वहीं आपदा प्रबंधन विभाग का कंट्रोल रूम इस संबंध में पूर्ण रूप से सतर्क है। ताम जिलों के डीएम को भी खास तौर पर सतर्क रहने के लिए कहा गया है। वहीं आम जनता से अपील की गई है कि खुले में व पेड़ के नीचे किसी भी स्थिति में शरण ना लें। वजह है भारी बारिश के बीच वज्रपात जानलेवा साबित हो सकता है।

Next Story