Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तेज प्रताप-जीतन राम मांझी की मुलाकात के बाद सुशील मोदी बोले- एनडीए सरकार पूरा करेगी कार्यकाल

बिहार में सियासी हलचलों का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस मुलाकात के तुरंत बाद बिहार के पर्वू डिप्टी सीएम एवं भाजपा (BJP) के दिग्गज नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने एक के बाद एक ट्वीट कर एनडीए गठबंधन (NDA alliance) के नेताओं को नसीहत देते हुए बयान दिए हैं।

After meeting of Tej Pratap Yadav and Jitan Ram Manjhi Sushil Kumar Modi called NDA alliance unbreakable bihar corona news
X

सुशील कुमार मोदी

लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) और जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) के बीच पटना (Patna) में आज उनके आवास पर मुलाकात हुई। इसके बाद से ही बिहार में अटकलबाजियों का दौर शुरू हो गया है। मुलाकात के बाद खुद तेज प्रताप यादव ने मीडिया कर्मियों से बातचीत करते हुए कहा कि वो उन्हें अपना अंकल मानते हैं। इसलिए वो उनके आवास के पास से निकल रहे थे तो उनसे मुलाकात करने के लिए पहुंच गए। वहीं बिहार के पूर्व सीएम एवं 'हम' प्रमुख जीतन राम मांझी ने भी इस मुलाकात के सियासी मायने नहीं निकाले जाने की अपील की है।

वैसे बिहार में सियासी हलचलों का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस मुलाकात के तुरंत बाद बिहार के पर्वू डिप्टी सीएम एवं भाजपा (BJP) के दिग्गज नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने एक के बाद एक ट्वीट कर एनडीए गठबंधन (NDA alliance) के नेताओं को नसीहत देते हुए बयान दिए हैं।

सुशील कुमार मोदी ने लिखा कि जीतन राम मांझी किसी एक जाति के नहीं, बल्कि बिहार में दलितों के बड़े सर्वमान्य नेता हैं। उन्होंने राजद का कुशासन भी देखा है। उनसे किसी को जबरदस्ती मिलवा देने से कोई फर्क नहीं पड़ता। एनडीए अटूट है और इसकी सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। किसी को मुगालते में नहीं रहना चाहिए।

राज्यसभा से भाजपा के सांसद सुशील कुमार मोदी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी एनडीए के वरिष्ठ नेता हैं। इसलिए किसी जनप्रतिनिधि की उनसे शिष्टाचार भेंट का राजनीतिक मायने निकालने की जल्दबाजी नहीं होनी चाहिए।

भाजपा के सांसद सुशील कुमार मोदी ने अन्य ट्वीट के जरिए एनडीए के सभी घटक दलों से गलत बयानबाजी नहीं करने की अपील भी की है। सुशील मोदी ने ट्वीट में लिखा कि इस समय कोरोना महामारी से सबको मिलकर लड़ना चाहिए। ताकि सरकार और कोरोना योद्धाओं का मनोबल ऊंचा रहे। एनडीए के सभी घटक दलों से अपील है कि वे गैरजिम्मेदार बयानबाजी करने के बजाय पीड़ित मानवता की रक्षा करने में अपनी ऊर्जा लगायें।

सुशील मोदी ने कहा कि एनडीए एक लोकतांत्रिक गठबंधन है, इसलिए जनता से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर सभी घटक दलों की राय अलग-अलग हो सकती है। ऐसी परिस्थिति में घटक दल को एक दूसरे के विरुद्ध सार्वजनिक बयानबाजी करने के बजाय संगठन के आंतरिक मंच पर अपनी राय रखनी चाहिए।

Next Story