logo
Breaking

जानिए क्‍या है जीका वायरस, कैसे करें इससे बचाव

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गुजरात में 3 लोगों के जीका वायरस से पीड़ित होने की पुष्टि की है।

जानिए क्‍या है जीका वायरस, कैसे करें इससे बचाव

पिछले साल ब्राजील समेत कई दक्षिण अमेरिकी देशों में दहशत मचाने के बाद जीका वायरस ने भारत में भी दस्तक दे दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गुजरात में 3 लोगों के जीका वायरस से पीड़ित होने की पुष्टि की है।

भारत में इस वाइरस के पाए जाने का ये पहला मामला है। तीनों ही मरीज अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के रहने वाले हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की वेबसाइट पर छपी रिपोर्ट में बताया गया है कि अहमदाबाद के बीज.जे. मेडिकल कॉलेज ने 10 से 16 फरवरी 1016 के बीच 93 ब्लड सैंपल इकट्ठे किए थे।

इनमें से एक 64 साल के बुजुर्ग में जीका वाइरस पाए गए। यह भारत में जीका वाइरस के संक्रमण का पहला केस है।

मच्छर से फैलने वाले इस वायरस का नाम जीका है। यह सीधे नवजात को अपना शिकार बनाता है। इस वायरस से प्रभावित होने वाले बच्चे की सारी जिंदगी विशेष देखभाल करनी पड़ती है, आइए इस वायरस के बारे में जानें।

1 - जीका वायरस के क्या हैं लक्षण

बुखार, जोड़ों में दर्द, आंखों में जलन

खुलजी, हाथ पांव में सूजन

2 - कैसे फैलता है जीका वायरस?

अमेरिका में इस तरह के मच्छर टैक्सास, हवाई और फ्लोरिडा में मिलते हैं

डेंगू भी फैलाता है जीका यानी जीका वायरस एंडीज इजिप्टी नामक मच्छर से फैलता है

एडीज इजिप्टी वही मच्छर है जो यलो फीवर, डेंगू और चिकनगुनिया फैलाता है

3 - वायरस के हमले का क्या होता है असर?

सिर छोटा और दिमाग अविकसित रह जाता है

बीमारी का नाम माइक्रोसेफली है

माइक्रोसेफली एक न्यूरोलॉजिकल समस्या है

इसमें बच्चे का सिर छोटा रह जाता है

बच्चे के दिमाग का भी पूरा विकास नहीं होता है

Share it
Top