logo
Breaking

दिन में 2 बार नहाने से मिलेगी लू से राहत

शरीर में पानी एवं नमक की कमी हो तब लू लग जाती है।

दिन में 2 बार नहाने से मिलेगी लू से राहत

गर्मियों में शरीर में पानी व नमक की कमी से लू लगती है। डॉ. सत्यजीत ने बताया कि वातावरण का तापक्रम अधिक हो एवं बॉडी का तापक्रम 37 हो तब बॉडी को अनुकूलन की जरूरत होती है। इसे थर्मास्टेट कहते हैं।

इससे बॉडी को स्थिर रखने के लिए पसीने के माध्यम से ठंडा करने की कोशिश करते हैं। इस प्रक्रिया में शरीर में पानी की कमी हो जाती है।यदि शरीर में ऐसी स्थिति हो जाए कि पानी एवं नमक की कमी हो तब लू लग जाती है। यदि शरीर में 3 से 4 घंटे तक ये कमी हेाती है तब लू लगने की संभावना बढ़ती है।

लू को कभी भी अनेदखा न करें। कई बार लू इतना प्रभावित करता है कि इससे ब्रेन भी डैमेज कर देता है एवं कई बार तो लोगों की लू से मौत हो जाती है। लू से बचने के लिए एवं शरीर को इस प्रचंड गर्मी से राहत देने के लिए दिन में दो बार नहाएं।

तेज धूप में निकलने से बचें एवं गर्मी में खूब पानी पीएं। जरूरत न हो तो सुबह 11 से 3 के बीच घर से न निकलें। जूस के बजाए फलों का सेवन करें, जो अधिक फायदेमंद होता है।

डायबिटीज एक्सपर्ट डॉ. सत्यजीत ने बताया यह टिप्स

1. गर्मी में पानी का भरपूर सेवन करें एवं ताजे रसीले फल खाएं।

2. गर्मी में यदि तेज धूप में जाना हो तो कॉटन के कपड़े का ही इस्तेमाल करें एवं शरीर को पूरी तरह से कवर करके ही निकलें ताकि धूप न लगे।

3. गर्मी में अपने भोजन में ताजे फल जैसे तरबूज, खरबूजा, संतरा, अंगूर इन फलों समेत सलाद का सेवन करें जिससे कि शरीर में पानी एवं नमक की पूर्ति हो।

4. गर्मी से छांव में आने पर शरीर को 10 से 15 मिनट का समय दें ताकि शरीर घर के तापक्रम के अनुसार अनुकूलित हो सके।

5. तुरंत धूप से आकर ठंडा पानी न पीएं एवं एसी कूलर की हवा में ना रहें।

6. गर्मी में प्रतिदिन खाने में पौष्टिक एवं संतुलित भोजन का ही सेवन करें एवं तले भुने खाने से परहेज करें।

7. गर्मी में शरीर को ठंडकता प्रदान करने के लिए दो बार जरूर नहाएं।

Share it
Top