Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सांस लेने की समस्या दूर करेगा प्राणायाम, यहां पढ़िए इसके फायदे

वैश्विक महामारी कोरोना (Corona) ने हमें हमारी हेल्थ के बारें में थोड़ी ज्यादा एहतियात बरतने पर मजबूर कर दिया है। कोरोना से लड़ने के लिए हमे अपनी हेल्थ का पूरा ध्यान रखना पड़ रहा है। प्राचीन समय से ही योग के अंगों में से एक प्राणायाम (Pranayama) हमारी सांसो को नियंत्रित करने में सहायता करता है।

सांस लेने की समस्या दूर करेगा प्राणायाम, यहां पढ़िए इसके फायदे
X

वैश्विक महामारी कोरोना (Corona) ने हमें हमारी हेल्थ के बारें में थोड़ी ज्यादा एहतियात बरतने पर मजबूर कर दिया है। कोरोना से लड़ने के लिए हमे अपनी हेल्थ का पूरा ध्यान रखना पड़ रहा है। हम सबको पता है कि कोरोना (Covid -19) सबसे ज्यादा घातक तरीके से हमारे फेफड़ों पर असर करता है। कोरोना की दूसरी लहर ने हम सभी को ऑक्सीजन की अहमियत समझा दी। कोरोना से लड़ने के लिए हमें अपनी सांसो पर कंट्रोल और इस पर ध्यान देने की थोड़ी ज्यादा जरूरत है।

ये तो हम सब जानते हैं कि योगा (Yoga) हमारी शारीरिक और मानसिक हेल्थ दोनों के लिए काफी लाभकारी है। जैसे-जैसे हम अपने काम को जारी रखते हैं और दैनिक आधार पर तनाव से जूझते हैं, हमारी सांसें छोटी और तेज हो जाती हैं। जब हमारी सांस छोटी होती है, तो यह हमें तनाव मुक्त नहीं होने देती है, जो बदले में कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकती है। प्राचीन समय से ही योग के अंगों में से एक प्राणायाम (Pranayama) हमारी सांसो को नियंत्रित करने में सहायता करता है। भ्रामरी, कपाल भाति, नादिशोधन, उज्जयी, भस्त्रिका से विभिन्न प्राणायाम तकनीक हमें सांस पर नियंत्रण पाने में मदद करती है और हमें तनाव से छुटकारा पाने और शरीर को आवश्यक ऑक्सीजन प्रदान करने में मदद करती है।


प्राणायाम के फायदें (Benefits Of Pranayama)

  • प्राणायाम मानसिक तनाव को कम करने के साथ आपके गुस्से को कंट्रोल करता है।
  • यह आपकी भूख को नियंत्रित करता है, इसलिए यह आपके वजन घटाने की यात्रा का पहला कदम हो सकता है।
  • प्राणायाम आपके व्यक्तिगत या व्यावसायिक संबंधों को बेहतर बना सकता है। यह मानते हुए कि आप अपनी सांसों के नियंत्रण में हैं, आप अपने मूड पर भी काबू पा सकते हैं और इसलिए अपने आसपास के लोगों के साथ बेहतर ढंग से बातचीत करने में सक्षम होंगे।
  • यह आपकी कार्य क्षमता में सुधार करता है।
  • यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
  • प्राणायाम ऑटोइम्यून बीमारियों से पीड़ित होने की संभावना को कम करता है।
  • प्राणायाम आपकी नींद के पैटर्न और गुणवत्ता में भी सुधार करता है।
  • प्रतिदिन प्राणायाम का अभ्यास करना आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए अद्भुत काम कर सकता है।
  • नियमित रूप से प्राणायाम करने से हार्मोनल संतुलन बना रहता है और आप पूरे दिन ऊर्जावान और संतुष्ट महसूस करते हैं।

Next Story