Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

विश्व की ऐसी 7 जगह जहां जाने के बाद जान ले लेती हैं आत्माएं

सच जानने की कोशिश जिसने भी की वह वापस नहीं आ सका।

विश्व की ऐसी 7 जगह जहां जाने के बाद जान ले लेती हैं आत्माएं
नई दिल्ली. भूतियां जगह के बारे में तो आपने बहुत किस्से- कहानियां सुनी होंगी। बहुत से ऐसे लोग भी हैं जो इन बातों पर विश्वास नहीं करते लेकिन जिन्होंने देखा वो कुछ कहना नहीं चाहते लेकिन एक बात तो माननी पड़ेगी कि जब भी किसी को इन भूतियां जगहों के बारे में बताया गया तो उस व्यक्ति ने वहां जाकर सच जानने की कोशिश जरुर की लेकिन सच सामने नहीं आ सका क्योंकि इन जगहों पर जाने वाला कोई भी व्यक्ति लौटकर नहीं आया।
1. भानगढ़ का किला
1573 में निर्मित भानगढ़ का किला हिंदुस्तान में सबसे ज्यादा भयावह जगहों में से एक है. इस जगह को भूत प्रेतों का किला भी कहा गया है. भारतीय पुरातत्व विभाग की मानें तो अंधेरा होने के बाद यह जगह सुरक्षित नहीं है क्योंकि यहां कुछ अनजानी शक्तियों का वास है, जो रात में सक्रिय हो जाती हैं। इसलिए रात के समय यहां पर प्रवेश वर्जित है इसके साथ ही यहां सरकार द्वारा सूचना पट भी लगा हुआ है जिस पर चेतावनी दी गई है।
2. टावर ऑफ लंदन
टॉवर ऑफ लंदन के बारे में यह मशहूर है कि यहां दर्जनों शाही आत्माएं रहती हैं। उनमें से ज्यादातर की मौत इन्हीं ग्रे दीवारों के बीच हुई थी। माना जाता है कि जो लोग यहां आत्महत्या करते हैं उसके पीछे भूत-प्रेतों का हाथ है।
3. व्हाइट हाउस
व्हाइट हाउस दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमरीका के राष्ट्रपति का निवास स्थान है। लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि यह भी भूत-प्रेतों का निवास स्थान है। आज भी इस जगह को लेकर ढ़ेरों भूत-प्रेत की कहानियां प्रचलित हैं। कहा जाता है कि इस जगह बहुत सारी आत्माएं भटकती हैं जिसमें अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति जॉन एडम्स, अब्राहम लिंकन, एंड्र्यू जैक्सन शामिल हैं। व्हाइट हाउस में उनके चेहरों के धब्बे दिखाई देते हैं। यह जगह इतनी भयावह है कि ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल ने यहां रहने से साफ इंकार कर दिया था।
4. रैम इन
इंग्लैंड के ग्लूशेस्टरशायर स्थित प्राचीनतम रैम इन (1145 में निर्मित) के बारे में ऐसा माना जाता है कि इस जगह पर बच्चों के बलिदान, शैतानों की पूजा और भूत प्रेतों को लेकर भयानक घटनाएं घटित हुई हैं। इसलिए रात हो या दिन यहां पर बच्चों कि चिल्लाहटें सुनाई देती हैं। जानकारी के मुताबिक सुबह के समय में यहां जाने वाले लोगों को छोटे बच्चों की रोने की आवाजें आती हैं।

5. गुड होप का महल
साउथ अफ्रीका के केपटाउन में गुड होप का महल 17वीं शताब्दी में डच इस्ट इंडिया कंपनी द्वारा निर्मित कराया गया था। इस जगह को लेकर अतीत से ही बहुत सारी भूत-प्रेत की कहानियां कही जाती है। मानने वाले इसे मानते भी हैं।
6. मनीला फिल्म सेंटर
मनीला फिल्म सेंटर पहली मनीला इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (1982) का मुख्य थिएटर है। यह जगह अपनी भूतिया कहानियों के लिए प्रचलित है। सुनने में आता है कि 1981 में भवन निर्माण दुर्घटना के दौरान मारे गए मजदूर भूत बन गए थे। उसके बाद से यहां दिन के समय में भी किसी की जाने की हिम्मत नहीं होती। लेकिन ऐसा कहा जाता है कि कई बार उसके अंदर से आस-पास से गुजरते हुए लोगों को फिल्म चलने की आवाजें आती हैं पर अंदर जाने की किसी की हिम्मत नहीं होती।
7. फिलिपींस का डिप्लोमै होटल
फिलिपींस का डिप्लोमेट होटेल शुरुआत में एक मठ के रूप में जाना जाता था। द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानियों द्वारा यहां इसाई धर्म में प्रचलित कुछ रीति-विधान संपन्न किए गए थे। यह जगह एक तरह का आरोग्य निवास था। विश्व युद्ध के बाद यह होटल में तब्दील हो गया। स्थानीय लोगों की मानें तो जिन लोगों ने इस बिल्डिंग का निर्माण करवाया वह भूत बन चुके थे। यह भी कहा जाता है कि युद्ध में मारे गए लोग आज भी अपने हक के लिए लड़ते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top