logo
Breaking

World Sleep Day 2019 : जमीन पर सोने के फायदे नहीं जानते होगें आप

आपने अक्सर जमीन पर सोने के फायदे के बारे में जरूर सुना होगा, लेकिन वो आपको किस तरह से हेल्दी और स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है, शायद आप ये नही जानते होगें। हमारे देश में प्राचीन काल से ही जमीन पर सोने की परंपरा रही है। इसलिए आज ''वर्ल्ड स्लीप डे'' (World Sleep Day) पर जमीन पर सोने के फायदे (Benefits of sleeping on the floor of Sleeping) बता रहे हैं।

World Sleep Day 2019 : जमीन पर सोने के फायदे नहीं जानते होगें आप

World Sleep Day 2019 : आपने अक्सर जमीन पर सोने के फायदे के बारे में जरूर सुना होगा, लेकिन वो आपको किस तरह से हेल्दी और स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है, शायद आप ये नही जानते होगें। हमारे देश में प्राचीन काल से ही जमीन पर सोने की परंपरा रही है, लेकिन वक्त के बदलाव के साथ ही लोगों के रहन-सहन में आए बदलाव की वजह से सोने के तरीको में भी बदलाव आ गया है। जिसकी वजह से लोग अब बेड पर मुलायम गद्दों पर सोने लगें हैं। लेकिन बेड पर मुलायम गद्दों पर सोने से लोगों कमर दर्द समेत कई अन्य बीमारियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए आज 'वर्ल्ड स्लीप डे' (World Sleep Day) पर जमीन पर सोने के फायदे (Benefits of sleeping on the floor of Sleeping) बता रहे हैं।

जमीन पर सोने के फायदे :

जमीन पर सोने के फायदे 1

आज के दौर में लंबे समय तक कंप्यूटर्स पर काम करने की वजह से लोग अक्सर कमर और पीठ दर्द की समस्या से परेशान रहते हैं। ऐसे में अगर जमीन पर सोने की आदत बनाई जाए, तो कुछ ही दिनों में इस दर्द से राहत मिल जाती है।

जमीन पर सोने के फायदे 2

कई लोग बहुत झुक कर काम करते हैं या झुक कर चलते हैं, जिससे धीरे-धीरे बॉडी पॉश्चर खराब होने लगता है। जो देखने में भी बेहद अजीब लगता है।
ऐसे में अगर आप अपने बॉडी पॉश्चर को ठीक करना चाहते हैं, तो जमीन पर सोने की आदत बना लें।

जमीन पर सोने के फायदे 3

जमीन पर सोने से कंधों और कूल्हों का एलाइनमेंट यानि जुड़ाव बेहतर बना रहता है जिससे शरीर को कई तरह के दर्द से छुटकारा मिल जाता है।

जमीन पर सोने के फायदे 4

जमीन पर सोने के फायदे से लोग ज्यादा खुश और रिलेक्स महसूस करते हैं। जिससे मानसिक रोगों के होने का खतरा कम हो जाता है।

जमीन पर सोने के फायदे 5

शरीर का सबसे जरूरी अंग यानि रीढ़ की हड्डी से शरीर का नर्वस सिस्टम जुड़ा होता है जिससे पूरा शरीर सही तरीके से कार्य करने में सक्षम होता है।
ऐसे में अगर जमीन पर सोने की आदत बनाई जाए, तो इससे स्पाइन यानी रीढ़ की हड्डी एकदम सीधी रहती है और उसपर दवाब भी बहुत कम पड़ता है। साथ ही स्पाइन में लगी चोट या होने वाले दर्द में भी जल्द आराम मिलता है।
Share it
Top