Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

World Heart Day 2018 : भूलकर भी न करें ये काम,वरना हो सकते हैं हार्ट स्ट्रोक के शिकार

अनियमित जीवनशैली, तनाव और चिंता आदि के चलते दुनिया भर में हार्ट स्ट्रोक के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। ऐसे मामलों में मरीज को कई बार स्ट्रोक के लक्षणों के बारे में पता ही नहीं होता है। यह स्थिति खतरनाक हो सकती है। इसे जल्द से जल्द समझ कर डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है, नहीं तो यह घातक भी हो सकता है।

World Heart Day 2018 : भूलकर भी न करें ये काम,वरना हो सकते हैं हार्ट स्ट्रोक के शिकार
X

अनियमित जीवनशैली, तनाव और चिंता आदि के चलते दुनिया भर में हार्ट स्ट्रोक के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। ऐसे मामलों में मरीज को कई बार स्ट्रोक के लक्षणों के बारे में पता ही नहीं होता है। यह स्थिति खतरनाक हो सकती है। इसे जल्द से जल्द समझ कर डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है, नहीं तो यह घातक भी हो सकता है।

इसलिए आज हम आपको हार्ट स्ट्रोक के लक्षण बता रहे हैं। जिससे आप समय रहते ही समस्या को कंट्रोल कर सकें।

यह भी पढ़ें : World Heart Day 2018 : सीने में दर्द से हैं परेशान तो भूलकर भी न करें ये गलती हो सकती है हार्ट प्रॉब्लम

हार्ट स्ट्रोक के लक्षण :

1.शरीर सुन्न हो जाना: कभी-कभी आपको महसूस होता है कि आपका शरीर सुन्न हो गया है और शरीर में बिल्कुल ऊर्जा नहीं बची है। ऐसे में आप मदद के लिए भी खुद आगे नहीं बढ़ पाते हैं। आप अपने शरीर के किसी एक हिस्से को महसूस नहीं कर पाते हैं। यह हार्ट स्ट्रोक के सबसे आम लक्षणों में से एक है।

2.चेहरे पर प्रभाव: जब हार्ट अटैक आता है, तो इसका असर चेहरे पर भी दिखता है। इसके कारण चेहरे का एक हिस्सा टेढ़ा हो सकता है। यह आपके चेहरे के भावों को भी प्रभावित करता है। स्ट्रोक के कारण मुंह या आंखें अकसर प्रभावित होती हैं।

यह भी पढ़ें : ओवरी सिस्ट(अंडाशय में गांठ) के लक्षण, कारण और उपचार

3. सीने में दर्द: सीने में गंभीर दर्द होना स्ट्रोक का एक सामान्य संकेत है। लोग इसे अकसर गैस का दर्द समझ कर टाल देते हैं लेकिन इस पर गौर करने की जरूरत है। जब तक आप किसी डॉक्टर के जरिए इसकी पुष्टि ना कर लें, तब तक कोई निर्णय नहीं करना चाहिए।

4.जुबान का हकलाना: अकसर हार्ट स्ट्रोक के दौरान जुबान भी प्रभावित होती है। पेशेंट इससे या तो हकलाने लगता है या बात नहीं कर पाता। स्ट्रोक के दौरान स्पीच मसल्स पैरालाइज हो सकती हैं और आप बहुत कोशिश करने पर भी बोल नहीं पाते हैं।

5.धुंधला दिखाई देना: स्ट्रोक के दौरान आपकी आंखों की रोशनी भी प्रभावित हो सकती है और आपको धुंधला दिखाई देना शुरू हो जाता है। गंभीर स्थिति में हो सकता है कि आप कुछ देख ही ना पाएं। दिमाग से सूचना ले जाने वाली नर्व्ज के डैमेज हो जाने के कारण ऐसा होता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story