Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

विश्व स्वास्थ्य दिवसः डायबिटीज के साथ जीना इतना भी मुश्किल नहीं

इस साल की थीम है डायबिटीज यानी मधुमेह, जिसे आम बोलचाल की भाषा में चीनी की बीमारी भी कहा जाता है।

विश्व स्वास्थ्य दिवसः डायबिटीज के साथ जीना इतना भी मुश्किल नहीं
नई दिल्ली. आज वर्ल्ड हेल्थ डे है। इस साल की थीम है डायबिटीज यानी मधुमेह, जिसे आम बोलचाल की भाषा में चीनी की बीमारी भी कहा जाता है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) की वेबसाइट के मुताबिक, साल 2008 में दुनियाभर में लगभग 347 मिलियन लोग डायबिटीज से ग्रस्त थे। बीमारी तेजी से फैल रही है और निम्न व मध्यम आय वाले देशों के लोगों को ज्यादा हिट कर रही है। साल 2012 में इस बीमारी की चपेट में आकर 1.5 मिलियन लोगों की मौत हो गई। इनमें से 80 फीसदी से अधिक मौतें निम्न व मध्यम आय वाले देशों में हुई थीं। WHO के मुताबिक, साल 2030 तक डायबिटीज दुनिया में होने वाली मौतों के पीछे का सातवां सबसे बड़ा कारण होगा।
WHO के मुताबिक ही स्वास्थयवर्धक डाइट, नियमित शारीरिक गतिविधि, सामान्य वजन मैंटेन करने और तंबाकू का सेवन न करने से टाइप टू डायबिटीज से बचा जा सकता है या फिर कम से कम इसे 'डिले' किया जा सकता है। यह बीमारी धीरे-धीरे व्यक्ति के ह्रदय, रक्त धमनियों, आंखों, किडनी और नसों को बुरी तरह से डैमेज करने लगती है।
डायबिटीज के साथ जीना इतना भी मुश्किल नहीं... हां अपने पैरों पर खड़े हों, अपने खान पान और गतिविधियों को अनुशासन और डॉक्टरी परामर्श के मुताबिक रखें। लोगों के टोकने, कुछ भला बुरा कहने की परवाह न करें। आम इंसान और डायबिटिक में फर्क सिर्फ यह है कि डायबिटिक को दवा लेनी होती है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top