logo
Breaking

समर में बदला वर्कआउट का पैटर्न, लाइट एक्सरसाइज है बेस्ट

गर्मी में योगा, जिमिंग और स्विमिंग से रखे बॉडी फिट।

समर में बदला वर्कआउट का पैटर्न, लाइट एक्सरसाइज है बेस्ट

पिछले करीब पांच सालों से जिम में वर्जिश करने वाला मुकेश हर साल गर्मियों के मौसम में एक्सरसाइज का पैटर्न बदल देता है।

सर्दियों में जहां वह हैवी वर्कऑउट करता है, वहीं समर सीजन में अपेक्षाकृत लाइट। इस दौरान वह अपनी टाइमिंग भी चेंज करता है। एक्सपर्ट का भी यही मानना है कि इस मौसम में लाइट एक्सरसाइज ही प्रिफर करनी चाहिए।

ऐसे में फिटनेस क्रेजी यंगस्टर्स के सामने सबसे बड़ा चैलेंज खड़ा होता है कि वे वर्कआउट में कितना समय दें और ब्रेक फास्ट से लेकर डिनर तक का डाइट चार्ट क्या रखें। जिससे वे फिट रहने के साथ ही हेल्दी भी रह सकें। शंकरनगर साइकस फिटनेस के ट्रेनर राज पाटिल बताते हैं कि वातावरण में हुए बदलाव के साथ ही यंगस्टर्स हैवी एक्सरसाइज को इग्नोर करें।

लाइट एक्सरसाइज ही प्रिफर करें। एक्सरसाइज में अधिक से अधिक 30 से 40 मिनट दें। यदि आप एसी रूम में वर्कआउट कर रहे हैं, तो विंटर सीजन के अकॉर्डिंग एक्सरसाइज में पूरा समय भी दे सकते हैं।

फिटनेस मेन्टेन करें

गर्मी में कोशिश रहे कि सुबह जल्दी या देर शाम को एक्सरसाइज करें, जिससे आपको काम थकावट लगेगी| शरीर में पानी की मात्रा बराबर हो इसलिए पानी ज्यादा पीना चाहिए।

इंडोर वर्कआउट जैसे योग, जिम या स्विमिंग को ज्यादा महत्व दें, यह गर्मियों में एक बेस्ट एक्सरसाइज होते है। एक्सरसाइज के समय बीच-बीच में पानी पीते रहें। ध्यान रहे गर्मियों में स्टीमबाथ और सनबाथ लेने से बचे।

समर वर्कआउट में क्या डाइट होना चाहिए

गर्मियों में वेट लॉस अच्छा होता हैं, पर यह सच नहीं है। इसका मुख्य कारण यह हैं कि आप वेट लॉस के साथ-साथ खान-पान भी कम कर देते हैं| जिससे शरीर में न्यूट्रीशनल वैल्यू कम हो जाती हैं और नतीजा यह होता हैं कि शरीर में काम करने की गति कम हो जाती है।

इसे पूरा करने के लिए सीजनल फ्रूट्स आम, नारियल पानी, कलिंदर, खरबूजा और अंगूर का सेवन करें। हरे पत्तेदार सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें, इससे पानी की मात्रा पूरी होती हैं। गर्मियों में इन चीज़ो को डाइट में शामिल न करें जैसे आइली फूड, जंक फूड आदि।

कॉर्डियक एक्सरसाइज करें

ट्रेनर्स बताते हैं की गर्मियों में पुरुषो को ज्यादा कार्डियक एक्सरसाइज करना चाहिए। वहीं महिलाओं को वेट ट्रेनिंग जैसे एक्सरसाइज करना चाहिए| इसका रिजल्ट यह होता है कि यह एक्सरसाइज बॉडी फिटनेस को मेंटेन करने में मददगार होते है।

वेटलॉस के बजाए फैट लॉस पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए, क्योंकि वेट ज्यादा मायने नहीं रखता, आपका फैट कम होना चाहिए। अक्सर ज्यादातर महिलाएं वेट ट्रेनिंग से बचतीं हैं, बल्कि उन्हें पुरुषो से ज्यादा वेट ट्रेनिंग की जरूरत होती हैं| इससे बेसल मेटाबोलिज्म की क्षमता बढ़ जाती हैं और रिजल्ट अच्छे होते हैं।

सही पोश्चर में करें एक्सरसाइज

एक्सरसाइज करते वक्त एक गलत अटेम्प बॉडी को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए ट्रेनर की मदद से सही पोश्चर में एक्सरसाइज करना चाहिए।

जरूरी है कि आप जब कॉलेज टाइम से एक्सरसाइज की शुरूआत करते हैं, तो जिम में एक्सपर्ट की एडवाइज पर वर्कआउट करें। इससे आपको काफी नॉलेज हो जाता है। इसके बाद आप घर पर सेल्फ एक्सरसाइज भी कर सकते हैं।

घर पर भी कर सकते हैं वर्कआउट

गर्मी में बाहर का टेम्प्रेचर काफी बढ़ जाता है। ऐसे में यंगस्टर्स घर पर ही वर्कआउट कर सकते हैं। इसके लिए वह टेनिस, बालकनी, गार्डन, लॉन चूज कर सकते हैं। एक्सरसाइज करते समय थोड़ा-थोड़ा पानी पीते रहें।

इससे आपमें एनर्जी बनी रहेगी। इसके अलावा ब्रेक फास्ट, डिनर व लंच में अपनी डाइट में बदलाव करें। तेल व मसाले का खाना न खाएं। दिन भर में तीन से चार लीटर पानी पीएं।

Share it
Top