Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Winter Health Tips: जानें सर्दियों में क्यों करनी चाहिए एक्सरसाइज?

Winer Health Tips: सर्दी के मौसम में ज्यादातर लोग आलस्य दिखाते हैं, एक्सरसाइज, व्यायाम से बचते हैं। यहां तक कि बाहर वॉक करने जाने से भी बचते हैं। यह सही नहीं है। सर्दियों में एक्टिव रहना चाहिए, वर्कआउट जरूर करना चाहिए, इससे शरीर फिट, मजबूत बना रहता है।

Winter Health Tips: जानें सर्दियों में क्यों करनी चाहिए एक्सरसाइज?
X

प्रतीकात्मक तस्वीर 

Winter Health Tips: सर्दियां (Winters) में सुबह-सुबह गर्म बिस्तर छोड़ना काफी कष्टकारी लगता है। लेकिन चुस्त शरीर और प्रसन्न मन चाहिए तो समय से बिस्तर छोड़ना ही होगा, वर्कआउट भी करना होगा। यह जान लें, सर्दियों में वर्कआउट करके हम 100 फीसदी फिटनेस हासिल कर सकते हैं। फिटनेस एक्सपर्ट कहते हैं कि सर्दियों में वर्कआउट करने से गर्मियों के मुकाबले डबल कैलोरी बर्न होती है। इस तरह सर्दियों में वजन कम करना गर्मियों के मुकाबले काफी आसान है। सर्दियों में वर्कआउट करने के क्या फायदे हैं, इसकी जानकारी हर किसी को होनी चाहिए।

मांसपेशियां बनती हैं लचीली: जैसा कि हम जानते हैं ठंड के मौसम में हर चीज अकड़ जाती है, सिकुड़ जाती है। हमारी शरीर की मांसपेशियों में भी यह हरकत होती है। इसीलिए सर्दियों में वार्मअप जरूर करना चाहिए। इससे मांसपेशियां लचीली रहेंगी, मजबूत रहेंगी और शरीर स्वस्थ-मन खुश रहेगा।

हड्डियां होती हैं मजबूत: सर्दियों में सुबह की गुनगुनी धूप में वर्कआउट करने का एक फायदा यह भी है कि शरीर को जरूरी विटामिन डी मिलता है। चूंकि गर्मी के दिनों में ज्यादा समय तक धूप रहती है, तो कहीं ना कहीं हमें धूप मिल ही जाती है। शरीर को जरूरी विटामिन डी धूप के जरिए ही मिलता है। लेकिन सर्दियों में हम ज्यादातर समय घर के भीतर गुजारते हैं। सूरज भी आमतौर पर छिपा रहता है या उसकी धूप बहुत कमजोर होती है। इसलिए शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाती है। जब हम घर से बाहर वर्कआउट के लिए जाते हैं तो आसानी से सूरज की धूप शरीर को मिल जाती है। यह विटामिन डी सर्दियों में हमारी हड्डियों को मजबूती देती है। इससे भी हमारा स्वास्थ्य बेहतर रहता है।

कम होता है हार्टअटैक का रिस्क: गौरतलब है कि सर्दियों में शरीर में ब्लड पंप करने के लिए दिल को अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती है। इसीलिए सर्दियों में गर्मियों के मुकाबले काफी ज्यादा हार्टअटैक होते हैं। इन हार्टअटैक से बचने का सबसे आसान उपाय यही है कि गर्मियों में भले वर्कआउट ना करें। लेकिन सर्दियों में वर्कआउट से बिल्कुल भी ना बचें। सर्दियों में नियमित रूप से वर्कआउट करेंगे तो दिल मजबूत होगा। हार्टअटैक का रिस्क काफी कम हो जाता है।

सौ बातों की एक बात यह है कि अगर सर्दियों में चुस्त-दुरुस्त शरीर के साथ प्रसन्न मन चाहिए तो सुबह-सुबह गर्म बिस्तर का मोह छोड़िए और वर्कआउट जरूर कीजिए।

जब करें घर में एक्सरसाइज

फिटनेस एक्सपर्ट्स के अनुसार, सर्दियों में अगर घर से बाहर ना जा सकें तो कोई बात नहीं। घर के ठंडे कमरे में ही वर्कआउट कर सकते हैं। ठंडे कमरे का मतलब यह है कि कमरा ब्लोअर के जरिए गर्म ना किया गया हो यानी वो नेचुरली ठंडा हो। सर्दियों में ठंडे कमरे में सोने और ठंडे कमरे में वर्कआउट करने से शरीर ब्राउन फैट प्रोड्यूस करता है। यह फैट किसी भी दूसरे टिश्यू के मुकाबले सैकड़ों गुना ज्यादा गर्मी पैदा करता है। यह गर्मी, शरीर के एक्सट्रा फैट को बर्न कर देती है।

Next Story