Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डायबिटीज पेशेंट सर्दियों में ऐसे बरतें सावधानियां, वरना..

सर्द मौसम में डायबिटीज पेशेंट्स की समस्या काफी बढ़ जाती है।

डायबिटीज पेशेंट सर्दियों में ऐसे बरतें सावधानियां, वरना..
X
नई दिल्ली. सर्दी का मौसम सेहत बनाने के लिए अच्छा माना जाता है, लेकिन इसी मौसम में डायबिटीज पेशेंट्स की समस्या काफी बढ़ जाती है। उनकी प्रॉब्लम्स ज्यादा न बढ़े, इसके लिए प्रॉपर केयर की जरूरत होती है। दरअसल, सर्दियों में ब्लड ग्लूकोज और एचबीए1सी का स्तर बढ़ जाता है इससे समस्याएं बढ़ने लगती है। इसलिए सर्दियों में डायबिटीज पेशेंट को हेल्दी रहने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। कौन सी हैं वो खास बातें, आप भी जानें...
न बढ़े बॉडी वेट
सर्दियों में वजन कॉमन बात है। आमतौर पर सक्रियकता की कमी और एक्सरसाइज कम करने से 5 से 10 पाउंड वजन बढ़ ही जाता है। पेट का मोटापा डायबिटीज के बाद होने वाली सबसे बड़ी समस्या है। ध्यान रखें कि आप इस सीजन में भी एक्सरसाइज करना बिल्कुल न छोड़ें। हर रोज वॉक करें और बाहर निकलने से पहले खुद को अच्छी तरह से ढंक कर रखें। कोहरे के दौरान कमरे से बाहर पार्क में कसरत से परहेज करें।
पानी की संतुलित मात्रा
सर्दियों में डिहाइड्रेशन से ब्लड ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाता है। शुष्क हवाएं और हीटर से त्वचा भी ड्राय हो सकती है। नमी बनाएं रखने के लिए अच्छे मॉयश्चराइजेशन का प्रयोग करें और आंखों में उचित नमी बनाएं रखने के लिए आई ड्राप्स का प्रयोग करें।
वैक्सीनेशन
सर्दियों में लोग बहुत जल्द फ्लू जैसे संक्रमण के शिकार हो जाते हैं। डायबिटीज पीड़ितों को एंफ्लुएंजा संक्रमण होने का खतरा आम लोगों की तुलना में 6 गुना ज्यादा होता है। इसलिए जरूरी है कि आप फ्लू का टीकाकरण समय रहते करवा लें। न्यूमोनिया का वैक्सीन लेने की भी कुछ डॉक्टर सलाह देते हैं।
डाइट
इस सीजन में जहां तक संभव हो गर्म और आसानी से पच जाने वाली तीजें खाएं जिसमें काफी मात्रा में कैलोरीज हो। दूध,सूप,सब्जियां और ओटमील जैसे गर्म रखने वाली चीजें खआएं। दालचीनी, तिल और फ्लैक्स सीड को अपने आहार में शामिल करें, क्योंकि ये ग्लूकोज को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। शराब के सेवन से पूरी तरह परहेज करें क्योंकि इसकी वजह से ब्लड वेसेल्स फैल जाती हैं और शरीर में गर्मी तेजी से फैल जाती है।
नियमित चेकअप
बदलते तापमान की वजह से इस सीजन में ब्लड ग्लूकोज में लगातार बदलाव होता रहता है। इससे होने वाले खतरों से बचने के लिए जरूरी है कि नियमित रूप से आप अपना ब्लड ग्लूकोज लेवल और ब्लड प्रेशर का चेकअप करवाएं।
ऐसे बरतें सावधानियां
-सर्दियों में पैर सुन्न हो सकते हैं, इसलिए अगर सूजन, कोई संक्रमण या कट जाए और जल्दी ठीक न हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। ठंडे मौसम में बाहर जाने से बचें।
-ठंडा मौसम खून को गाढ़ा करके जमने का कारण बन सकता है। इससे डायबिटीज पेशेंट्स को स्ट्रोक जैसी गंभीर समस्याएं हो सकती है।जब भी बाहर जाएं तो ध्यान रखें कि आपका शरीर गर्म रहे।
-तनाव से बल्ड शुगर का स्तर बढ़ सकता है, जो ठंडे मौसम की वजह से गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकता है। उचित मात्रा में धूप सेंकें।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story