Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कहीं भारत में कोरोना की तीसरी लहर बनकर तो नहीं आया Omicron?, जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

दुनिया भर मे कोरोना के नए वेरिएंट (Corona New Variant) ओमीक्रॉन (Omicron) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। साउथ अफ्रीका (South Africa) से शुरु हुआ यह वायरस अब तक 38 देशों में फैल चुका है और भारत में भी चार मामले सामने आए है, जो चिंता का विषय बन गया है।

कहीं भारत में कोरोना की तीसरी लहर बनकर तो नहीं आया Omicron?, जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स
X

दुनिया भर मे कोरोना के नए वेरिएंट (Corona New Variant) ओमीक्रॉन (Omicron) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। साउथ अफ्रीका (South Africa) से शुरु हुआ यह वायरस अब तक 38 देशों में फैल चुका है और भारत में भी चार मामले सामने आए है, जो चिंता का विषय बन गया है। ऐसे में डर सता रहा है कि इंडिया में ओमीक्रॉन कहीं तीसरी लहर (Covid 19 third Wave) बनकर तो नहीं आया है। विशेषज्ञों का कहना है कि ओमाइक्रोन वेव (Omicron Wave) के स्पष्ट होने में छह से आठ हफ्ते का समय लगेगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार को महाराष्ट्र में ओमीक्रान का पहला मामला सामने आया है। राज्य के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (हेल्थ) (Additional Chief Secretary) डॉ प्रदीप व्यास ने कहा, '''हम वैक्सीनेश प्रक्रिया को जल्द ही पूरा करेंगे और लोगों को कोविड नियमों का पालन करना होगा। इसके साथ मास्क पहनकर रखा होगा।''

महाराष्ट के कोविड टास्क फोर्स के सदस्य डॉ शशांक जोशी ने कहा, "इस समय ओमाइक्रोन वेरिएंट के बारे में ज्यादा बातें स्पष्ट नहीं हुई है, हमें घबराना नहीं चाहिए, बल्कि सतर्क रहना चाहिए। हमें यह अध्ययन करना होगा कि क्या ओमाइक्रोन अगले कुछ हफ्तों में डेल्टा वेरिएंट की तरह भारत में आएगा।' उन्होंने कहा कि अगले छह से आठ हफ्ते यह देखने के लिए महत्वपूर्ण हैं कि भारत में ओमाइक्रोन वेरिएंट कैसा व्यवहार करता है।''

डॉ जोशी ने आगे कहा कि ''अधिकांश ओमाइक्रोन मामले यात्रा से संबंधित हैं। हमें दक्षिण अफ्रीका के अलावा अन्य देशों में मामलों के समूहों का अध्ययन करना होगा, जो पहले यात्रा-संबंधी मामले के बाद विकसित हुए होंगे। यह हमें तैयार करने में मदद करेगा "

24 नवंबर को आया था पहला मामला

बता दें कि साउथ अफ्रीका में 24 नवंबर को ओमीक्रॉन की पुष्टि हुई थी। भारत में पहला मामला कर्नाटक में मिला। इसके बाद गुजरात और फिर महाराष्ट में 33 साल का शख्स ओमीक्रॉन से संक्रमित पाया गया।

Next Story