Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हफ्ते में 1 बार जरूर करें अपनी बॉडी डिटॉक्स, टॉक्सिन फ्री रहेंगे आप

फास्टिंग हमारे डाइजेशन को आराम देने का बेहतरीन जरिया है।

हफ्ते में 1 बार जरूर करें अपनी बॉडी डिटॉक्स, टॉक्सिन फ्री रहेंगे आप

बॉडी को टॉक्सिन फ्री रखने से आप हमेशा हेल्दी रह सकती हैं। ऐसा आप अपनी डाइट में चेंज लाकर आसानी से कर सकती हैं। जानिए, खान-पान के जरिए कैसे करें बॉडी को टॉक्सिन फ्री।

इसे भी पढ़ें- मूली खाने के ये 5 फायदे जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

आप कभी त्योहार तो कभी शादी-पार्टी के बहाने, तरह-तरह के तेल, घी से भरे पकवान और मिठाई खा लेते हैं लेकिन इसका आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ता है। अगर आप अपनी बैड ईटिंग हैबिट्स की वजह से शरीर में मौजूद टॉक्सिन से मुक्ति चाहती हैं, तो आपको थोड़ा कॉन्शंस होना होगा।

फास्टिंग है इफेक्टिव

उपवास यानी फास्टिंग हमारे डाइजेशन को आराम देने का बेहतरीन जरिया है। खान-पान पर ब्रेक लगाने से शरीर को सुस्ताने और उसमें जमे टॉक्सिन को बाहर निकलने का अवसर मिलता है। फास्टिंग से रक्त की सफाई के साथ-साथ आंतों, गुर्दें, ब्लैडर, फेफड़ों और साइनस को भी साफ होने का मौका मिलता है।

क्लीनिंग प्रभावी तरीके से करने के लिए उपवास को धीरे-धीरे तोड़ें। जैसे पहले दिन सिर्फ वेजीटेबल सूप और एकाध फल लें, दूसरे दिन साबुत अनाज की थोड़ी मात्रा लें, फिर तीसरे दिन से अपनी रूटीन डाइट लें। लेकिन इसे सुपाच्य और हल्का ही रखें।

एंटी इंफ्लेमेटरी फूड

जहां तक संभव हो आप ऐसी कुदरती और पोषक खाद्य सामग्री खाएं, जो एंटी इंफ्लेमेटरी हो। जब हम प्रोसेस्ड, प्रदूषित, बिना पोषक तत्वों वाला भोजन करते हैं, तो इससे हमारे शरीर में एसिडिक, इनफ्लेम्ड और प्रदूषित वातावरण तैयार होता है, जो शरीर के कुदरती हीलिंग प्रोसेस को रोकता है।

इसलिए क्लीन ईटिंग का रास्ता चुनें यानी ताजा फल सब्जी के सेवन पर जोर दें। प्रोसेस्ड फूड, चीनी, मैदा, तेल घी से तौबा करें। हफ्ते में कम से कम दो तीन दिन ऐसा ही भोजन करें।

ग्रीन स्मूदी

शरीर के भीतरी सिस्टम को रीचार्ज करने के लिए ग्रीन स्मूदीज एक बेहतरीन उपाय है। यह स्मूदी थकान को भी दूर करती हैं और एंटी इंफ्लेमेटरी भी होती हैं। इनके सेवन से शरीर में हो रहे छोटे-मोटे दर्द से भी राहत मिलती है और ढेर सारा फाइबर आंतों की सफाई में भी मददगार होता है। ग्रीन स्मूदीज बनाने के लिए हरी सब्जियों और फलों का उपयोग किया जाता है।

इसे भी पढ़ें- गले और मुंह के कैंसर से बचने के उपाय

क्लींजिंग स्पाइस डाइट

अपने भोजन में गुणकारी और डिटॉक्सीफाई करने वाले मसाले शामिल करना भी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। दालचीनी, ओरीगेनो, इलायची, हल्दी, जीरा, सौंफ, अदरक, कलौंजी, काली मिर्च और लौंग को अपने भोजन में जरूर शामिल करें।

Next Story
Top