logo
Breaking

''किराए की कोख'' या सरोगेसी के जरिए कैसे होते हैं बच्चे, जानें भारत में क्या है कानून

सरोगेसी एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके माध्यम से कोई नि:संतान जोड़ा बच्चे का सुख उठा सकता है। सरोगेसी प्रक्रिया किसी को भी संतान की खुशी हासिल करने के लिए मदद करता है।

सरोगेसी एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके माध्यम से कोई नि:संतान जोड़ा बच्चे का सुख उठा सकता है। सरोगेसी प्रक्रिया किसी को भी संतान की खुशी हासिल करने के लिए मदद करता है।

सरोगेसी को दूसरे शब्दों में किराए की कोख भी कहते हैं। इसमें एक महिला और एक दंपति के बीच एग्रीमेंट होता है। महिला बच्चे के अपनी कोख में पालती है और बच्चे के जन्म लेने के बाद वह उसे दंपति को सौंप देती हैं। इस तरह बच्चे को जन्म देने वाली महिला को सरोगेट मदर कहते हैं।

यह भी पढ़ें: पहली बार शारीरिक संबंध बनाने के बाद लड़कियां सोचती हैं ये बातें

गौरतलब है कि सरोगेसी पर आधारित एक फिल्म 'जैस्मीन' बनने जा रही है, जिसका फर्स्ट लुक रिलीज हुआ है। इस फिल्म में बॉलीवुड एक्ट्रेस एश्वर्या राय बच्चन सरोगेट मदर की भूमिका में नजर आएंगी।

सरोगेसी के बारे में सब कुछ जानने के लिए देखें अगली स्लाइड्स...

Share it
Top