Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इस वजह से मछली की तरह पैदा होता है बच्चा

महाराष्ट्र में एक अजीबोगरीब बच्चे के होने का मामला सामने आया है। महाराष्ट्र के एक सरकारी अस्पताल में एक मां ने बच्चे को जन्म दिया, जो दिखने में मरमेड मछली की तरह नजर आ रहा था। बच्चे के दोनों पैर आपस में जुड़े हुए थे और वह बिल्कुल मरमेड मछली की तरह ही दिख रहा था।

इस वजह से मछली की तरह पैदा होता है बच्चा

महाराष्ट्र में एक अजीबोगरीब बच्चे के होने का मामला सामने आया है। महाराष्ट्र के एक सरकारी अस्पताल में एक मां ने बच्चे को जन्म दिया, जो दिखने में मरमेड मछली की तरह नजर आ रहा था। बच्चे के दोनों पैर आपस में जुड़े हुए थे और वह बिल्कुल मरमेड मछली की तरह ही दिख रहा था। हालांकि बच्चे ने जन्म के 15 मिनट बाद ही दम तोड़ दिया।

आज की इस रिपोर्ट में हम आपको इस तरह के बच्चे के जन्म लेने के पीछे की वजह बताने जा रहे हैं।

दरअसल कोई भी बच्चा मरमेड मछली के आकार की तरह तभी बनता है जब उसमें मरमेड सिंड्रोम पाया जाता है। इसे विज्ञान की भाषा में सिरेनोमेलिया भी कहा जाता है।

मरमेड सिंड्रोम या सिरेनोमेलिया का मामला पहली बार भारत के महाराष्ट्र में देखा गया है।

यह भी पढ़ें: 4 देशों में पाए गए हैं निफा वायरस के मामले, जानें इस जानलेवा वायरस से बचने के उपाय

सिरेनोमेलिया (मरमेड सिंड्रोम) क्या है?

सिरेनोमेलिया (मरमेड सिंड्रोम) एक तरह का बर्थ डिफेक्ट है, जिसके होने पर बच्चे के दोनों पैर जुड़े हुए होते हैं। यह दिखने में मरमेड मछली की तरह होते हैं इसिलए इसका नाम मरमेड सिंड्रोम कहा जाता है। यह सिंड्रोम एक लाख बच्चों में से एक में पाया जाता है।

सिरेनोमेलिया (मरमेड सिंड्रोम) होने का कारण

वैसे तो अभी तक सिरेनोमेलिया (मरमेड सिंड्रोम) की कोई खास वजह सामने नहीं आई है कि जिसके कारण यह बर्थ इफेक्ट होता है। लेकिन इसके पीछे जेनेटिक और एनवायरमेंटल फैक्टर्स को शामिल किया गया है।

इसके पीछे यह भी कयास लगाए गए हैं कि यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में जीन्स ट्रांसफर के कारण हो सकता है। कुछ केस में सर्कुलेटरी सिस्टम और ब्लड वेसल्स के अबनॉर्मल होना भी कारण हो सकता है।

Share it
Top