Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इम्यून सिस्टम कमजोर होने के लक्षण : जानिए आखिर क्यों पड़ते हैं आप बार-बार बीमार

आपका इम्यून सिस्टम कितना वीक या स्ट्रॉन्ग है, इस बारे में कुछ शारीरिक लक्षणों से या होने वाली बीमारियों से पता चल जाता है। जानिए, कहीं आप भी लो इम्यूनिटी की शिकार तो नहीं हैं।

इम्यून सिस्टम कमजोर होने के लक्षण : जानिए आखिर क्यों पड़ते हैं आप बार-बार बीमार

Weak Immunity Symptoms : रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यून सिस्टम हमारे शरीर का वो सिस्टम है, जिसकी वजह से यह बैक्टीरिया, वायरस, फंगस या किसी भी बाहरी तत्व (टॉक्सिन) से मुकाबला करके उसे बाहर निकाल फेंकता है। एक मजबूत इम्यून सिस्टम हमें सर्दी-जुकाम हेपेटाइटिस, लंग्स इंफेक्शन, किडनी इंफेक्शन, पेट के इंफेक्शन और ऑटोइम्यून डिजीज से भी बचाता है। वैसे तो ब्लड टेस्ट की रिपोर्ट से इम्यून सिस्टम के कमजोर होने की पुष्टि हो सकती है लेकिन हमारा शरीर भी ऐसे साफ संकेत देता है, जिनसे इम्यून सिस्टम के कमजोर होने का पता चल जाता है।

एलर्जी-इंफेक्शन होना

अगर आप घर के दूसरे सदस्यों की तुलना में बार-बार बीमार पड़ती हैं, लगातार सर्दी-जुकाम, एलर्जी, खांसी, स्किन रैशेज से परेशान रहती हैं तो समझ लें कि आपका इम्यून सिस्टम बेहद कमजोर है। जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है, उन्हें बार-बार यूरीन इंफेक्शन, डायरिया, मसूड़ों में सूजन, मुंह में छाले, लिंफ नोड्स में सूजन की शिकायत होती है।
मौसम बदलते ही सबसे पहले इनको समस्या होती है, बुखार भी आ जाता है। इस बारे में होलिस्टिक न्यूट्रिशन एक्सपर्ट ल्यूक कौटीनो बताती हैं, ‘ऐसे लोगों को रेग्युलर एक्सरसाइज करनी चाहिए। लहसुन, अदरक, दालचीनी और लौंग जैसे मसाले अपने भोजन में जरूर शामिल करने चाहिए।’

डाइजेशन नहीं रहता ठीक

हमारी इम्यूनिटी का 80 फीसदी इंडिकेटर पेट ही होता है। किसी को लंबे समय तक कब्ज, अपच, एसिडिटी, ब्लोटिंग या गैस की शिकायत हो तो यह कमजोर इम्यून सिस्टम का लक्षण है। पेट खराब रहने का सीधा-सा मतलब है, खराब और अच्छे बैक्टीरिया में सही बैलेंस न होना। इस समस्या से बचने के लिए प्रोबायोटिक्स (दही/छाछ या फिर सप्लीमेंट) का सेवन रोज करना चाहिए।

विटामिन डी-3 का लो लेवल

विटामिन डी-3 भी इम्यूनिटी का लेवल बता देता है। अगर आपकी ब्लड टेस्ट रिपोर्ट विटामिन डी का लेवल कम बताती है तो आपको इसका लेवल ठीक करने के लिए कोशिश करनी चाहिए। इसकी कमी से थकान, सुस्ती, शरीर में ढीलापन, अनिद्रा, डिप्रेशन, आंखों के नीचे डार्क सर्कल की समस्याएं होने लगती हैं। हेल्थ एक्सपर्ट ल्यूक कौटीनो की राय में इसके लिए धूप में पर्याप्त समय में रहना चाहिए। पौष्टिक भोजन लेना चाहिए और जरूरत पड़ने पर सप्लीमेंट्स भी लेना चाहिए। ऐसे लक्षण दिखने पर आपको अपना इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत करने की दिशा में प्रयास करना चाहिए।
Next Story
Share it
Top