logo
Breaking

OMG! टॉयलेट का हैंड ड्रायर हाथों को कर देता है और भी गंदा, जानें कैसे

अक्सर लोग ऑफिस में या फिर मॉल में वॉशरूम यूज करने के बाद हाथों का पानी सुखाने के लिए हैंड ड्रायर का इस्तेमाल करते हैं। ज्यादातर लोग यही सोचते हैं कि वॉशरूम के बाद हाथ धो लिया और उसे सुखा लिया तो मतलब हाथ साफ हो गए, लेकिन ऐसा नहीं है। हाथ धोकर सुखान के बाद भी वह साफ नहीं रहता है।

OMG! टॉयलेट का हैंड ड्रायर हाथों को कर देता है और भी गंदा, जानें कैसे

अक्सर लोग ऑफिस में या फिर मॉल में वॉशरूम यूज करने के बाद हाथों का पानी सुखाने के लिए हैंड ड्रायर का इस्तेमाल करते हैं। ज्यादातर लोग यही सोचते हैं कि वॉशरूम के बाद हाथ धो लिया और उसे सुखा लिया तो मतलब हाथ साफ हो गए, लेकिन ऐसा नहीं है।

हाथ धोकर सुखान के बाद भी वह साफ नहीं रहता है। हाल ही में हुई एक रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि हैंड ड्रायर आपके हाथों को सुखाने के साथ उसे और गंदा कर देता है। यह रिसर्च ऐप्लाइड ऐंड एन्वायरनमेंटल माइक्रोबायोलॉजी नाम के जर्नल में प्रकाशित हुई है।

क्या कहती है रिसर्च

रिसर्च के मुताबिक जब बाथरूम हैंड ड्रायर के सामने सिर्फ 30 सेकंड के लिए एक प्लेट रखी गई जिस पर 18-60 बैक्टीरिया रिकॉर्ड किए गए। इस स्टडी के ऑथर्स की मानें तो यह प्लेट टेस्टिंग इस बात की तरफ साफतौर पर इशारा करता है कि कई हैंड ड्रायर हाथों को और गंदा करता है।

यह भी पढ़ें: आधे से ज्यादा लोगों को है डिप्रेशन और ब्लड प्रेशर की समस्या, जानें वजह

प्लेट पर पाए गए बैक्टीरिया में पैथोजन और स्पोर्स जैसे खतरनाक बैक्टीरिया शामिल हैं, जो व्यक्ति के हैंड ड्रायर यूज करने पर उसके हाथों पर चिपक जाते हैं।

एक्सपर्ट्स की राय

इसके अलावा रिसर्च में चौंकाने वाली बात यह है कि वॉशरूम में लगे नल में ड्रायर की तुलना में कम बैक्टीरिया पाए गए। इस स्टडी के लीड ऑथर पीटर सेटलो ने बताया कि टॉयलेट की हवा जितनी ज्यादा फैलेगी, बैक्टीरिया भी उतना ही ज्यादा पैदा होंगे। साथ ही उतना ही वह व्यक्ति के हाथों और बॉडी के अन्य हिस्सों पर चिपकेंगे।

ऐसे हो सकते हैं सेफ

हैंड ड्रायर पर की गई इस स्टडी में इस बात की पुष्टि की गई है कुछ हैंड ड्रायर्स ऐसे होते हैं, जिनमें अलग-अलग तरह के फिल्टर्स लगे होते हैं। इस स्थिति में कुछ हद तक हैंड ड्रायर्स से कम बैक्टीरिया फैलने से रोका जा सकता है।

Share it
Top