Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मल्टीपल गैजेट्स का स्तेमाल करें जरा संभलकर, जानिए क्या बताता है नया शोध

एक साथ मीडीया उपकरणों का इस्तेमाल पड़ सकता है महंगा

मल्टीपल गैजेट्स का स्तेमाल करें जरा संभलकर, जानिए क्या बताता है नया शोध
X

नई दिल्ली. क्या आप एक साथ कई गैजेट्स का इस्तेमाल करतें है? तो जरा संभल जाइए क्योंकी ब्रेन तथा मल्टी टास्किंग के बीच रिश्ते को बयां करता एक हालिया अध्ययन बताता है कि ज्यादा मीडिया गैजेट्स का उपयोग करने से आपका ब्रेन सिकुड़ता है। विभिन्न तरह के मीडिया गैजेट्स का एक साथ उपयोग करने वालों के मस्तिष्क की संरचना इनसे प्रभावित होती है। अध्ययन के मुताबिक, इनके प्रयोग से दिमाग का आकार कम होता जाता है।

हाल ही में हुए एक सर्वे में सामने आया है कि अपने मोबाइल फोन के साथ-साथ लैपटॉप और अन्य मीडिया उपकरणों के इस्तेमाल से संज्ञानात्मक और भावनात्मक नियंत्रण के लिए जिम्मेदार दिमाग का ग्रे मैटर कम होता जाता है।

मल्टीटास्किंग को लेकर ब्रिटेन स्थित ससेक्स विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक चौंकाने वाले अध्ययन के परिणाम पेश किए हैं। स्टडी के अनुसार, कई मीडिया उपकरणों का एक साथ उपयोग करने वाले लोगों का ग्रे मैटर का घनत्व, कभी-कभी सिर्फ एक उपकरण का उपयोग करने वालों की तुलना में कम पाया गया है।

सीधे शब्दों में कहें तो मल्टी-टास्किंग अवसाद और चिंता के रूप में भावनात्मक समस्याओं को बढ़ावा देती है। इस लंबे चले अध्ययन में उच्च-समवर्ती मीडिया का उपयोग मस्तिष्क संरचना में परिवर्तन की ओर ले जाता है। शोधकर्ताओं ने 75 वयस्कों के मस्तिष्क संरचना को देखने के लिए एफएमआरई का सहारा लिया था।

इन लोगों को टीवी और प्रिंट मीडिया सहित मीडिया गैजेट्स के उपयोग और उनके समय की खपत के बारे में पूछा था। व्यक्तिगत लक्षण को इतर रखते हुए आंकड़ों में, संज्ञानात्मक और भावनात्मक के लिए जिम्मेदार मस्तिष्क का ग्रे हिस्सा छोटा पाया गया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story