Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब खून की सामान्य जांच से हो जाएगी ट्यूमर की पहचान

अध्ययन में सीरम में तीन प्रोटीन की पहचान की गई है जिनकी मात्रा इस ट्यूमर से पीडित मरीज के शरीर में अलग-अलग पाई जाती है।

अब खून की सामान्य जांच से हो जाएगी ट्यूमर की पहचान
X

नई दिल्ली. मस्तिष्क के केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में न्यूरॉन की सहायता करने वाली ग्लियल कोशिकाओं के ट्यूमर ग्लियोब्लास्टोमस (जीबीएम) की पहचान के लिए भारतीय विज्ञान संस्थान के विज्ञानियों ने एक नई पद्धति की खोज की है। इससे इस ट्यूमर की पहचान जल्दी और सस्ते में हो सकेगी।

ये भी पढ़ें : सि‍गरेट जि‍तनी ही खतरनाक हुई अगरबत्‍ती, सोचि‍ए अब क्‍या सुलगाएंगे आप

इस अध्ययन में सीरम में तीन प्रोटीन की पहचान की गई है जिनकी मात्रा इस ट्यूमर से पीडित मरीज के शरीर में अलग-अलग पाई जाती है। जीबीएम से पीडित मरीज के सीरम में सीआरपी प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है जबकि एलवाईएएम1 और बीएचई40 प्रोटीन का स्तर अपेक्षाकृत नीचे रहता है। सीरम में इन तीन प्रोटीनों के स्तर का विेषण कर हम 90 प्रतिशत सटीकता से इस निर्णय पर पहुंच सकते हैं कि मरीज जीबीएम से पीडित है या नहीं।
भारतीय विज्ञान संस्थान बेंगलुरू में माइक्रो बायोलॉजी एवं कोशिका जीव विज्ञान विभाग के डॉक्टर कुमारवेल सोमसुंदरम की टीम द्वारा हाल में किए गए एक अध्ययन में यह बात सामने आई कि इस प्रकार के ट्यूमर से पीड़ित लोगों के खून के सीरम में एक विशेष प्रकार के प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है जिससे उसे ट्यूमर है या नहीं इसकी पहचान करना आसान होता है। सीरम रक्त का द्रव भाग होता है और यह खून का थक्का जमाने में मदद करता है। ग्लियोब्लास्टोमस ट्यूमर की पहचान के लिए अभी एमआरआई, सीटी स्कैन जैसी तकनीकों का प्रयोग किया जाता है जो काफी महंगी हैं और इसमें काफी वक्त भी जाया होता है लेकिन नई पद्धति में खून के सामान्य विेषण से ही इस ट्यूमर की पहचान की जा सकेगी।
सोमसुंदरम ने बताया कि हम अपनी सूची में सीआरपी को पाकर उत्साहित हैं क्योंकि मस्तिष्क की कोशिकाओं से नहीं बल्कि यकत की कोशिकाओं से संषित होता है। इसने हमें प्रेरित किया कि कैसे जीबीएम के मरीजों में सीआरपी का स्तर उच्च पाया जाता है और यह किस प्रकार यह ट्यूमर को सहायता देता है।

नीचे की स्लाइड्स में पढें, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर -

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story