Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मिनटों में हो जाएगा पथरी का इलाज, नहीं लगाना पड़ेगा चीरा

इस इलाज के लिए मरीजों को 5 हजार तक खर्च करना पड़ सकता है।

मिनटों में हो जाएगा पथरी का इलाज, नहीं लगाना पड़ेगा चीरा
नई दिल्ली. किडनी, गॉल ब्लाडर और यूरिन की थैली में छोटे पत्थरों की समस्या से पीड़ित मरीजों के लिए राहत भरी खबर है। रिम्स के यूरोलॉजी विभाग को मिली जर्मनी में बनी इएसडब्लूएल मशीन मिल गई है। इससे मशीन से अब पथरी का इलाज आसान हो जाएगा। जिसमें चीरा लगाए बिना ही किडनी के छोटे पत्थरों को निकाला जा सकेगा।
बता दें कि शूक्रवार को रिम्स के यूरोलॉजी विभाग में एक्स्ट्राकारपोरल शॉक वेव लिथोट्रिप्सी मशीन लायी गई है। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि इस मशीन को 15 दिन के भीतर इंस्टॉल भी कर दिया जाएगा। जिससे पथरी से पीड़ित मरीज आने वाले महीने में इसका लाभ उठा सकें। रिम्स में ये इलाज मरीजों को कम कीमत में उपलब्ध कराया जाएगा।
खबर के मुताबिक, इस इलाज के लिए मरीजों को 5 हजार तक खर्च करना पड़ सकता है। दरअसल, निजी अस्पताओं में इस इलाज से करीब 25 से 30 हजार तक प्रति सिटिंग पैसे लिए जाते हैं।
ऐसे काम करेगी ये मशीन-
बता दें कि जर्मनी से मंगायी गई इस मशीन की कीमत 1 करोड़ से ज्यादा है। इस मशीन में अल्ट्रासाउंड व सीआर्म लगा हुआ है, जिसे छोटे छिद्र के माध्यम से मरीज के प्रभावित अंग तक पहुंचाया जाएगा। और मौजूद पत्थर को कई टुकड़ों में तोड़ देगा। कई टुकड़ों में बंटने के बाद पत्थर पेशाब के रास्ते से निकल जाएगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top