Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Gandhi Jayanti 2021 : यहां बिताएं थे महात्मा गांधी ने अपनी जिंदगी के आखिरी दिन, इन 5 Museum में आपको जाना चाहिए जरूर

हर साल 2 अक्टूबर को 'राष्ट्रपिता' महात्मा गांधी की जयंती (Gandhi Jayanti) मनाई जाती है। 'बापू' मोहनदास करमचंद गांधी (Mohandas Karamchand Gandhi) का जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था और इस साल उनकी 152वीं जयंती मनाई जा रही है।

Gandhi Jayanti 2021 : यहां बिताएं थे महात्मा गांधी ने अपनी जिंदगी के आखिरी दिन, इन 5 Museum में आपको जरूरत जाना चाहिए
X

Gandhi Jayanti 2021 : यहां बिताएं थे महात्मा गांधी ने अपनी जिंदगी के आखिरी दिन, इन 5 Museum में आपको जरूरत जाना चाहिए

Gandhi Jayanti 2021 : हर साल 2 अक्टूबर को 'राष्ट्रपिता' महात्मा गांधी की जयंती (Gandhi Jayanti) मनाई जाती है। 'बापू' मोहनदास करमचंद गांधी (Mohandas Karamchand Gandhi) का जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था और इस साल उनकी 152वीं जयंती मनाई जा रही है। उनकी जयंति पर हम आपको गांधी जी के आश्रम और म्यूजियम के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां आप जा सकते हैं और गांधी जी के बारे में जानकारी ले सकते हैं।

1- साबरमती म्यूजियम और आश्रम

साबरमती आश्रम गुजरात में साबरमती नदी के किनारे बना हुआ है। इसकी स्थापना 1915 में महात्मा गांधी ने ही की थी।


2- गांधी स्मारक संग्रहालय, बिहार

बिहार में बने गांधी स्मारक संगठन को राष्ट्रीय गांधी संग्रहालय के नाम से भी जाना जाता है। यह पटना के गांधी मैदान के पास स्थित है। यहां साल 1965 में बापू की एक सफेद प्रतिमा का उद्घाटन किया गया था। इस संग्रहालय में महात्मा गांधी जी के जीवन यात्रा का प्रदर्शन किया जाता है।


3- मणि भवन गांधी संग्रहालय, महाराष्ट्र

महात्मा गांधी ने आजादी के दौरान देश भर में यात्रा की। वह जहां जाते थे, वहीं अपनी छाप छोड़ जाते थे। कहा जाता है कि मणि भवन को रेवा शंकर झावेरी ने साल 1912 में बनाया गया था। राष्ट्रपित महात्मा गांधी यहां 1915 में आए थे।


4- कीर्ति मंदिर और म्यूजियम, गुजरात



कीर्ति मंदिर और म्यूजियम गुजरात के पोरबंदर में स्थित है। यह वह स्थान है, जहां महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को हुआ था। संग्रहालय में गांधीजी द्वारा उपयोग की जाने वाली वस्तुएं और पुरानी तस्वीरें हैं।

5- गांधी स्मृति

गांधी स्मृति राजधानी दिल्ली में स्थित है। इस स्थान को पहले बिड़ला हाउस और बिरला भवन के नाम से भी जाना जाता था। यह महात्मा गांधी को समर्पित संग्रालयों में से एक है। गांधी स्मृति वही स्थान है, जहां महात्मा गांधी ने अपनी लाइफ के अंतिम 144 दिन बिताए थे और 30 जनवरी 1948 को उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।




Next Story