Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानें देश के किन राज्यों में लगाया गया है नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन

हालातों को देखते हुए देश के कई राज्यों में जरूरी गाइडलाइन लागू कर दिए गए हैं। जिसके चलते लोगों को उस राज्य में एंट्री करने के लिए कोविड नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट ले जाना होगा जरूरी होगा। वहीं कुछ राज्य में घूमने फिरने पर पाबंदी लगा दी गई है। ऐसे में आज हम आपको राज्यों में लगे कर्फ्यू रूल्स के बारे में बताने जा रहे हैं।

जानें देश के किन राज्यों में लगाया गया है नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन
X

जानें देश के किन राज्यों में लगाया गया है नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन (फाइल फोटो)

देश में कोरोना की लहर एक बार फिर से देखने को मिल रही है। जिसके बाद से लोगों की चिंता और भी बढ़ गई है। बीते 24 घंटो में 43,846 लोग कोरोना का शिकार हो चुके हैं। इसके पीछे का कारण लोगों की लापरवाही मानी जा रही है। हालातों को देखते हुए देश के कई राज्यों में जरूरी गाइडलाइन लागू कर दिए गए हैं। जिसके चलते लोगों को उस राज्य में एंट्री करने के लिए कोविड नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट ले जाना होगा जरूरी होगा। वहीं कुछ राज्य में घूमने फिरने पर पाबंदी लगा दी गई है। ऐसे में आज हम आपको राज्यों में लगे कर्फ्यू रूल्स के बारे में बताने जा रहे हैं।

मध्य प्रदेश

महाराष्ट्र से आने वाले सभी लोगों के लिए 7 दिन का क्वारंटीन जरूरी होगा। भोपाल और इंदौर में रात 10 बजे से सुबह के 6 बजे तक का नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। किसी भी तरह के सामाजिक कार्यक्रम और उत्सव पर भी रोक लगा दी गई है।

पंजाब

पंजाब में पटियाला, लुधियाना, फतेहगढ़ साहिब, मोहाली, जालंधर, होशियारपुर और कपूरथला में रात 11 बजे से सुबह 5 तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है।

तमिलनाडु

तमिलनाडु में 31 मार्च तक लॉकडाउन लगा दिया गया है

महाराष्ट्र

यहां एक बार फिर से सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। हालातों को देखते हुए हर तरह के सामाजिक, धार्मिक, राजनीतिक कार्यक्रमों पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। शादी में 50 लोगों को शामिल होने की इजाजत है। वहीं शोक सभा में केवल 20 लोग ही शामिल हो सकते हैं। पुणे में रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक का नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है।

गुजरात

गुजरात के सूरत, राजकोट और अहमदाबाद में नाइट कर्फ्यू 2 घंटे के लिए बढ़ा दिया गया है। पहले ये रात 12 बजे से सुबह के 7 बजे था। जिसे अप रात 10 बजे से सुबह के 6 बजे तक कर दिया गया है।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story