Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ट्रैफिक में फंसने से बढ़ता है कैंसर होने का खतरा: रिपोर्ट

कार के अंदर की हवा को ही रिसर्कुलेट करते रहना चाहिए।

ट्रैफिक में फंसने से बढ़ता है कैंसर होने का खतरा: रिपोर्ट
X
नई दिल्ली. आज की फ़ास्ट ट्रेक जिंदगी में ट्रैफिक एक बड़ी समस्या बना हुआ है। लंबे ट्रैफिक जाम से गाड़ियों से निकलने वाले जहरीले धुएं स्वास्थ्य के लिए बेहद ही नुकसानदायक होते है। एक नए रिसर्च के मुताबिक, ट्रैफिक जाम में बार-बार फंसने से आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। जिसके कारण कैंसर जैसी बड़ी बीमारी के चपेट में आ सकते हैं।
ट्रैफिक जाम के कारण अधिक प्रभावित
इंग्लैंड में यूनिवर्सिटी ऑफ सरे के भारतीय मूल के प्रशांत कुमार ने ट्रैफिक जाम पर किए गए रिसर्च में बताया है कि घंटों और लंबे ट्रैफिक जाम के कारण गाड़ियों से निकलने वाला धुआं शहरों के वातावरण को प्रदूषित कर कई प्रकार के जहरीले गैस बनाता है, जोकि कि घर में बैठे व्यक्ति की तुलना में ट्रैफिक में फंसे लोगों को कई गुना अधिक प्रभावित करता है।
हवा को ही रिसर्कुलेट
इतना ही नहीं, प्रशांत ने अपने रिसर्च में बताया है कि ट्रैफिक जाम के दौरान कार में बैठे लोग अपने शीशे को नीचे करके बाहर की हवा न लें, बल्कि एसी से निकलने वाली हवा या फिर कार के अंदर की हवा को ही रिसर्कुलेट करते रहना चाहिए। ऐसा इसलिए, क्योंकि पिछले कुछ अध्ययनों के मुताबिक आम ट्रैफिक के तुलना में घंटों और लंबे लगे हुए ट्रैफिक जाम में फंसे हुए लोगों को 29 गुना ज्यादा प्रभावित करता है।
धुआं जहरीला होता
हालांकि अक्टूबर 2013 में, वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने यह जानकारी दे चुका है कि शहरों में घंटों और लंबे ट्रैफिक जाम से गाड़ियों से निकलने वाला धुआं जहरीला होता है। सांस लेते वक्त यदि यह धुआं हमारे फेफड़ों में जाए तो कैंसर और हार्ट अटैक जैसी गंभीर बीमारी होने की संभावना हो सकती है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story