Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लंच के बाद आती है तेज नींद तो ऐसे करें अपनी Sleepiness को कंट्रोल

Tips: ज्यादातर लोगों को खाने के बाद नींद (Post Lunch Sleep) आने लगती है। लेकिन इस नींद के कारण आप अपना दोपहर का भोजन खाना छोड़ नहीं सकते हैं। हां इसे कंट्रोल किया जा सकता है ताकि आप अपना काम व्यवस्थित ढंग से कर पाएं।

लंच के बाद आती है तेज नींद तो ऐसे करें अपनी Sleepiness को कंट्रोल
X

Tips: ज्यादातर लोगों को खाने के बाद नींद (Post Lunch Sleep) आने लगती है। हमें इस आदत पर तब और ज्यादा गुस्सा आती है, जब हमें कोई जरूरी काम करना होता है और नींद (Sleep) के कारण हमारे उस काम में बाधा आती है। ऐसा इसलिेए होता है क्योंकि हमारी पैंक्रियाज (Pancreas) ब्लड शुगर लेवल को रेगुलेट (Regulate Blood Sugar Level) करने के लिए इंसुलिन (Insulin) का उत्पादन करती हैं। तो भोजन जितना भारी होगा, इंसुलिन का उत्पादन उतना ही अधिक होगा, जिससे आपके ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) में वृद्धि होगी। इंसुलिन में इस वृद्धि के साथ, हमारा शरीर स्लीप हार्मोन (Sleep Hormone) का उत्पादन करता है जो हमारे मस्तिष्क में सेरोटोनिन (Serotonin) और मेलाटोनिन (Melatonin) में परिवर्तित हो जाता है, जिससे हमें नींद आने लगती है। लेकिन इस नींद के कारण आप अपना दोपहर का भोजन खाना छोड़ नहीं सकते हैं। हां इसे कंट्रोल किया जा सकता है ताकि आप अपना काम व्यवस्थित ढंग से कर पाएं। अपनी इस स्टोरी में हम आपको ऐसे कुछ उपाय बताएंगे जिनके जरिए आप अपनी नींद को कंट्रोल कर सकते हैं।

अपनी डेस्क पर बैठे न रहें

खाना खाने के ठीक बाद काम पर वापस न बैठें। इसके साथ ही आप अपने परिसर में तेज चलना है या सीढ़ियां चढ़ना है। यह अल्पावधि व्यायाम ब्लड में ऑक्सीजन के लेवल को बढ़ाने और आपकी एनर्जी लेवल को बढ़ाने में मदद करेगा। जिससे आपकी नींद खुद ब खुद कम हो जाएगी।

च्युइंग गम

फिजियोलॉजी एंड बिहेवियर जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक, च्युइंग गम थकान को कम कर सकता है और आपको थोड़ा ज्यादा एक्टिव कर सकता है। लेकिन ऐसा अति करने से प्रभाव उल्टा हो सकता है। इससे आप लगातार काम करने की स्थिति में रहते हैं जिससे आपको एक मेजर मूड बूस्ट मिलता है। फिर से ऊर्जावान महसूस करने के लिए कम से कम पांच मिनट के लिए मिंट च्युइंग गम चबाएं।

पानी पिएं

डिहाईड्रेशन के कारण थकान, मूड खराब होना और ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई हो सकती है। सुनिश्चित करें कि आप दिन भर में पर्याप्त पानी पी रहे हैं। इसलिए अपने शरीर को कुछ तरल पदार्थ से हाइड्रेट करें जो दोपहर के भोजन के बाद आपको एक्टिव बनाए रखने में मदद करेगा।

हेल्दी खाना

प्रोसेस्ड खाने में अनाज जल्दी पच जाता है, जिसके परिणामस्वरूप ब्लड शुगर में वृद्धि होती है और कम ऊर्जा के स्तर में योगदान होता है। अधिक ऊर्जावान भोजन खाने के लिए चुनें जिसमें अधिक आयरन, लीन प्रोटीन और कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट शामिल हों।

खाने पर कंट्रोल रखें

अधिक खाने से पाचन धीमा हो जाता है, जिससे आसानी से सुस्ती आ सकती है। इस कारण आपको असहज, फूला हुआ महसूस हो सकता है। इसके बजाय, नींद और सुस्ती महसूस करने से बचने और ब्लड शुगर लेवल को और नियंत्रित करने के लिए बीच-बीच में थोड़ा- थोड़ा खाएं।

शुगर और फैट से बचें

एनर्जी क्रैश से बचने के लिए प्रोसेस्ड खाने से बचें, क्योंकि इनमें काफी मात्रा में शुगर और फैट होता है। शुगर आपके तुरंत एनर्जी तो दे सकती है, लेकिन थोड़ी ही देर में आपको इसके कारण नींद और थकान महसूस होनें लगती है। अगर आपको खाने के बाद मीठे की क्रेविंग होती है तो आप इसके लिए कोई फल खा सकते हैं।

ट्रैक रखें

दोपहर के भोजन के दौरान आपके द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों पर नजर रखना महत्वपूर्ण है। यदि कोई विशेष भोजन नींद और सुस्ती का कारण बन रहा है, तो बेहतर होगा कि तुरंत उनकी पहचान करें और उनका सेवन कम करें और अन्य खाद्य पदार्थों का चयन करें जो आपकी एनर्जी लेवल को उच्च रखने में मदद कर सकते हैं।

और पढ़ें
Next Story