Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ठंड में भूलकर भी न करें ये लापरवाही, वरना उठाना पड़ेगा भारी नुकसान

सर्दी का मौसम अच्छा तो लगता है लेकिन जरा सी लापरवाही आपको बीमार बना सकती है। खासकर बुजुर्ग और लो इम्यूनिटी वाले लोगों को ज्यादा अलर्ट रहने की जरूरत होती है।

ठंड में भूलकर भी न करें ये लापरवाही, वरना उठाना पड़ेगा भारी नुकसान

सर्दी का मौसम अच्छा तो लगता है लेकिन जरा सी लापरवाही आपको बीमार बना सकती है। खासकर बुजुर्ग और लो इम्यूनिटी वाले लोगों को ज्यादा अलर्ट रहने की जरूरत होती है। इस मौसम में वो कौन सी सावधानियां हैं, जो आपको बीमार होने से बचा सकती हैं। इस बारे में आर. एन. टैगोर अस्पताल, कोलकाता के मेडिसिन डिपार्टमेंट में कंसल्टेंट डॉ. अरिंदम विश्वास जानकारी दे रहे हैं।

सर्दियों का मौसम खाने-पीने और सेहत के लिहाज से अच्छा माना जाता है। गर्मियों की तपती लू और ऊमस भरी रातों के बाद ठंडी-ठंडी हवाएं खूब सुहाती हैं। लेकिन इस मौसम में कुछ सावधानियां न बरती जाएं तो तरह-तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में यह जानना जरूरी है कि इस मौसम में कौन-कौन सी समस्याएं हो सकती हैं और इनसे बचने के लिए क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए।

रहें ज्यादा अलर्ट

इस मौसम में सर्दी-खांसी का काफी प्रकोप हो जाता है। कई बार इसकी मूल वजह एलर्जी होती है। लेकिन सर्दी-खांसी के साथ-साथ बुखार भी हो तो इसका मतलब है कि रोगी को इंफेक्शन हुआ है। वायरल इंफेक्शन होने की संभावना ज्यादा होती है। कभी-कभी बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण भी ऐसा हो सकता है। दोनों प्रकार के इंफेक्शन छूने से फैलते हैं। इसके अलावा सर्दियों में दांतों में दर्द, मसूड़ों में संक्रमण, साइनुसाइटिस, दमा का प्रकोप बढ़ना, न्यूमोनिया, इंफ्लूएंजा या फ्लू जैसी समस्याएं भी बढ़ सकती हैं।

यह भी पढ़ें: सावधान! डायबिटीज से पहले शरीर में होते हैं ये बदलाव

क्या सावधानी बरतें

  • सबसे पहले ओरल हाइजीन का ध्यान रखना जरूरी है
  • मुंह के माध्यम से ही हमारे शरीर में तरह-तरह के जीवाणु प्रवेश करते हैं। नियमित ब्रश, मुंह में नमक मिले गरम पानी से कुल्ले जरूर करने चाहिए
  • सर्दियों में हम पानी कम पीते हैं, जबकि पानी की कमी से हमारे इम्यून सिस्टम की कार्यक्षमता प्रभावित हो सकती है। इसलिए सर्दी के मौसम में भी भरपूर पानी पिएं
  • इसके अलावा टोपी, स्वेटर आदि गर्म कपड़े पहन कर शरीर का बचाव करना जरूरी है
  • मॉर्निंग वॉक के लिए बिल्कुल तड़के न जाकर सूर्योदय का इंतजार करना चाहिए। शरीर पर सूरज की रोशनी पड़ना सेहत के लिए अच्छा होता है
  • धूप लगने से शरीर में विटामिन डी भी बनता है
  • सर्दियों में विटामिन सी का सेवन भी प्रचुर मात्रा में करना चाहिए, नीबू, संतरा, आंवला, अमरुद और चीकू जैसे फल नियमित खाने चाहिए। इससे सर्दी-जुकाम के संक्रमण से बचा जा सकता है।

बुजुर्गों की करें स्पेशल केयर

इस मौसम में बुजुर्गों को विशेष एहतियात बरतनी चाहिए। ठंडे मौसम में घर से बाहर स्वेटर, शॉल, मफलर या टोपी आदि पहने बिना न निकलें। मटके का ठंडा पानी न पीकर उबालकर ठंडा किया गया शीतोष्ण जल पिएं। जिन्हें दमा की दिक्कत है, ऐसे बुजुर्गों को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। इस मौसम में एक दिन भी बुखार हो जाए, तो लापरवाही न बरतकर तुरंत चिकित्सक से सलाह लें।

यह भी पढ़ें: इन वजहों से गर्भवती महिला को रात में नींद नहीं आती

इनका रखें ध्यान

  • अस्थमा की शिकायत है, तो अपनी दवाएं नियमित रूप से लेते रहें। अपना इनहेलर सदैव साथ रखें।
  • पानी पर्याप्त मात्रा में पिएं।
  • सर्दी-जुकाम या कोई भी स्वास्थ्य समस्या हो, तो अपने मन से एंटीबायोटिक या एंटीएलर्जिक दवा न खाकर चिकित्सकीय परामर्श से ही खाएं।
  • अपने शरीर को गर्म रखें और गर्म तासीर के खाद्य ज्यादा लें।
Next Story
Top