Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्राकृतिक तरीकों से ऐसे निखारें अपने बाल

प्राकृतिक तरीकों से बालों को बिना किसी साइड इफेक्ट के निखारा जा सकता है।

प्राकृतिक तरीकों से ऐसे निखारें अपने बाल
X

गर्मियों में बालों तथा त्वचा में नमी की कमी की वजह से यह निर्जीव जैसे हो जाते हैं। बालों में शुष्कता, दो मुंहे बाल, नीरसता तथा बालों की रूसी, बालों का झड़ना गर्मियों में बालों में आम समस्या है।

हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब का कहना है कि कुछ साधारण आयुर्वेदिक नुस्खों से बालों की सभी समस्याओं से प्रभावी तरीके से निपटा जा सकता है। हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब के अनुसार, बाजार में मिलने वाले रासायनिक उत्पाद कुछ समय के लिए तो बालों को चमकदार बनाए रखने में मददगार साबित हो सकते हैं, पर इनके नकारात्मक प्रभाव भी हो सकते हैं, जबकि घरेलू आयुर्वेदिक पदार्थो से बालों को बिना किसी साइड इफेक्ट के प्राकृतिक तरीके से निखारा जा सकता है।

उनका कहना है कि बालों में खुश्की के समाधान के लिए कंडीशनर, हेयर स्पॉ तथा दूसरे रसायनिक पदार्थ व उपचार केवल अस्थायी तौर पर ही प्रभावकारी साबित होते हैं।

बालों की खुश्की के प्रभावी तथा दीर्घकालीन उपाय के लिए प्रीकंडीशनिंग बेहतर है। बाल धोने से पांच मिनट पहले तेल मालिश करें। सरसों का तेल प्री कंडीशनिंग में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। इससे बालों की शुष्कता से प्रभावी तरीके से निपटा जा सकता है।

हबीब का सुझाव है कि बालों की प्रकृति तैलीय या सामान्य होने पर मेहंदी में एक चम्मच दही तथा पानी मिलाकर बनाया गया पेस्ट लगाना चाहिए। यह बालों के प्राकृतिक रंग को चमकदार बनाता है। इस मिश्रण को बालों पर 15 मिनट तक लगा रहने के बाद बालों को साफ, ताजे पानी से धो लेना चाहिए।

दो मुंहें बालों की समस्या का अभी तक कोई प्रभावी उपचार नहीं ढूंढा गया है। ऐसे में बालों को नियमित समय पर कटवाते रहना तथा प्रीकंडीशनिंग, दोनों ही प्रभावी उपाय माने जाते हैं।

रूसी की समस्या से मुक्ति के लिए महीने में दो बार हल्दी में पानी मिलाकर बने पेस्ट या लेप को सिर पर 10 मिनट तक लगाने के बाद बालों को साफ एवं ताजे पानी से धो लेना चाहिए। बालों की रूसी में हल्दी रामवाण का काम करती है। यदि बालों में तैलीय रूसी की समस्या है तो प्रतिदिन बाल धुलने चाहिए और सिर पर किसी भी हेयर केयर पैक का उपयोग नहीं करना चाहिए। तैलीय रूसी में चर्मरोग विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए।

हबीब के अनुसार, यूं तो सिर के बाल हर मौसम में झड़ते हैं, लेकिन गर्मी व बरसात में यह बढ़ जाता है। इसकी एक वजह गर्मियों में अधिक पसीना निकलना भी है। इसलिए जरूरी है कि शरीर में पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ रहे। इसके लिए पानी, जूस, नारियल पानी आदि भरपूर मात्रा में लेते रहें।

साथ ही संतुलित आहार, नियमित तौर पर बाल कटवाने, बालों को साफ रखने तथा प्री-कंडीशनिंग से भी बालों को गिरने से प्रभावी तरीके से रोका जा सकता है। उन्होंने बताया कि बालों को नियमित तौर पर कटवाने से सिर पर बालों का वजन कम हो जाता है, जिससे बाल गिरना रुक जाता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story