logo
Breaking

ऐसे पनपते हैं स्वाइन फ्लू के जानलेवा वायरस

अगर थोड़ी सावधानी बरती जाए तो स्वाइन फ्लू से बचा जा सकता है।

ऐसे पनपते हैं स्वाइन फ्लू के जानलेवा वायरस

बदलते मौसम और तापमान में आई गिरावट के कारण स्वाइन फ्लू के वायरस सक्रिय हो चुके हैं और इसके शिकार होकर लोग अपनी जान भी गंवा रहे हैं।

विशेषज्ञों का मत है कि जहां धूप या रोशनी नहीं पहुंचती वहां स्वाइन फ्लू के वायरस ना केवल फैलते बल्कि ताकतवर होकर लोगों पर हमला करते हैं।

अगर इसके लक्षण दिखाई पड़ते हैं तो तत्काल चिकित्सकों के पास जाकर इलाज कराना चाहिए।

इसे भी पढ़ें- आमिर खान को हुआ स्वाइन फ्लू, मदद के लिए शाहरुख ने बढ़ाया हाथ

स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वाइन फ्लू को लेकर अलर्ट जारी किया गया है मगर उनकी कोशिशों के बाद भी मौत का सिलसिला नहीं रुक रहा है।

स्वाइन फ्लू के लक्षण

  • स्वाइन फ्लू के लक्षण : लंबे समय से बुखार, आंखों का लाल होना।
  • गला खराब हो जाना, मांसपेशियों में दर्द होना स्वाइन फ्लू के लक्षण की ओर इशारा करता है।
  • तेज सिरदर्द होना, खांसी आना, कमजोरी महसूस करना ये भी स्वाइन फ्लू का लक्षण है
  • तेेज ठंडा लगना।

इसे भी पढ़ें- उत्तराखंड: देहरादून में स्वाइन फ्लू से दो की मौत से मचा हड़कंप

होम्योपैथी में दवा

  • स्वाइन फ्लू से बचाव थोड़ी सजगता के साथ किया जा सकता है।
  • लेकिन चूक वश अगर इसके शिकार हो जाते हैं तो इन्फ्लो जीनम नामक दवा उपयोग कर 2 माह तक आराम लिया जा सकता है।
  • स्वाइन फ्लू में इस दवा को हर दो माह बाद लेना जरुरी है।

कुछ आयुर्वेदिक उपाय कर स्वाइन फ्लू के वायरस को पनपने से रोका जा सकता है।

गुरुचि (गिलोय), इलायची एवं कपूर, जावित्री, तेजपत्र, तुलसी, हल्दी आदि का उपयोग कर स्वाइन फ्लू समेत तमाम संक्रमित बीमारियों से बचा जा सकता है।

Share it
Top