Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीने में अगर हुआ मां को बुखार तो क्या होता है गर्भ में पल रहे बच्चे के साथ?

मां को बुखार होने का असर उसके कोख में पल बच्चे पर पड़ सकता है।

प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीने में अगर हुआ मां को बुखार तो क्या होता है गर्भ में पल रहे बच्चे के साथ?

मां को बुखार होने का असर उसके कोख में पल बच्चे पर पड़ सकता है। प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीने में महिला को बुखार होना उसके बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है।

प्रेग्नेंट लेडी को बुखार होने से बच्चे को दिल से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। हाल ही में हुए शोध में यह पाया गया कि प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीने में महिला को बुखार होने से बच्चे को दिल से जुड़ी बीमारियां हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें: 40 की उम्र के बाद भी रहना है फिट एंड फाइन तो करें ये काम

ये हो सकती हैं बीमारियां

मां के बुखार से बच्चे को न सिर्फ दिल से जुड़ी बीमारियां होती हैं, बल्कि तालु और होंठ के कटने का भी खतरा बढ़ता है। वैज्ञानिकों की मानें तो प्रेग्नेंसी के तीन से आठ महीने के बीच मां को बुखार होने से बच्चे के हृदय और जबड़े के विकास पर भी असर पड़ता है।

यह भी पढ़ें: ब्रेस्ट कैंसर की जानकारी मिनटों में देगी ये ब्रा!

रिसर्च में आया सामने

वाशिंगटन के साइंस सिग्नलिंग नामक पत्रिका में प्रकाशित रिसर्च में यह दावा किया गया कि प्रेग्नेंट लेडी को बुखार होने से बच्चों की हेल्थ पर असर पड़ता है। दरअसल, रिसर्च से जुड़े वैज्ञानिक यह पता लगाने की कोशिश कर रहे थे कि किसी वायरस के फैलने के कारण तो बच्चों में प्रॉब्लम्स नहीं आती या सिर्फ बुखार ही इसकी वजह है। इसके बाद शोधकर्ताओं ने इस बात की पुष्टि की बच्चों में ये विकार मां के फीवर के कारण ही होती है।

Next Story
Top