logo
Breaking

बदलते मौसम में रहें सावधान, गले में हो सकती है सूजन और इंफेक्शन- अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

बदलते मौसम और बढ़ते प्रदूषण की वजह से जहां गले मे खराश और कफ की समस्या शुरू हो जाती है, तो वहीं त्योहारी सीजन में तले-भुने और मसालेदार चटपटे जायकों का स्वाद लेने का असर भी हमारे गले पर सूजन और असहनीय दर्द के रूप में सामने आता है। ऐसे में अगर गले की परेशानी को नजरअंदाज किया जाए, तो टांसिल, इंफेक्शन, वायरल बुखार, खांसी जैसे रोग हमें घेर लेते हैं।

बदलते मौसम में रहें सावधान, गले में हो सकती है सूजन और इंफेक्शन- अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

बदलते मौसम और बढ़ते प्रदूषण की वजह से जहां गले मे खराश और कफ की समस्या शुरू हो जाती है, तो वहीं त्योहारी सीजन में तले-भुने और मसालेदार चटपटे जायकों का स्वाद लेने का असर भी हमारे गले पर सूजन और असहनीय दर्द के रूप में सामने आता है। ऐसे में अगर गले की परेशानी को नजरअंदाज किया जाए, तो टांसिल, इंफेक्शन, वायरल बुखार, खांसी जैसे रोग हमें घेर लेते हैं।

ऐसे में आज हम आपको गले में दर्द, सूजन और इंफेक्शन से बचने के कुछ घरेलू उपचार बता रहे हैं, जिससे आप उन्हें आजमाकर अपने गले से जुड़ी समस्याओं को बढ़ने से पहले ही रोक सकेगें।

गले में दर्द, सूजन और इंफेक्शन के घरेलू उपचार

1. बदलते मौसम की वजह से अगर आपके गले में दर्द है तो 6-7 तुलसी के पत्ते और 5-6 काली मिर्च को एक कप पानी में उबालें, और उसके बाद गुनगुना होने पर पीने से गले के दर्द में आराम मिलेगा। जल्दी आराम के लिए इस उपचार को 2-3 दिनों तक करें।

2. काली मिर्च, लौंग, नमक, नीम की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीने से भी गले के होने वाले दर्द में भी लाभ मिलता है।

3. मुलेठी पाउडर और शहद की एक समान मात्रा को साथ मिलाकर खाने से भी गले के दर्द में आराम मिलता है।

4. गले के दर्द में जल्द आराम के लिए कुलथी और काली मिर्च का काढ़ा बनाकर पीएं ।

5. इसके अलावा अदरक के रस के साथ शहद मिलाकर चाटने से भी गले की खराश और दर्द में राहत मिलती है।

6. अगर आपके गले में दर्द और सूजन है तो आप पान के पत्तों को हल्का सा गर्म कर के गले पर लगभग 30 मिनट बांधनें से आराम मिलता है।

7. गले में सूजन आने पर या कफ की समस्या होने पर, रात को सोने से पहले आधा चम्मच अजवायन खूब चबाकर खाएं और फिर गरम पानी पी लें। इससे कफ बनना बन्द हो जाता है।

8. गले में सूजन और दर्द के लिए अजवायन को आधा लीटर में पानी उबालें और उसमें नमक मिलाएं और दिन में 2-3 बार गरारे करें।

9. गर्म पानी में नींबू डालकर गरारे करने से गले की सूजन, दर्द और प्रदूषण की वजह से होने वाली खराश में आराम मिलता है।

10. मुलेठी के थोड़े से पाउडर को पान के पत्ते में रखकर सेवन करने से गले के दर्द और सूजन में आराम मिलता है, साथ ही गला खुलने से आवाज भी साफ होती है।

Share it
Top