Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अगर आप भी गले के दर्द से हैं परेशान तो नजरअंदाज न करें ये संकेत, हो सकता हैं इंफेक्शन

आमतौर पर मौसम बदलने के साथ ही हमारे गले में इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है। गले में इंफेक्शन दो तरह का होता है। पहले इंफेक्शन में तालु के पास छोटी-छोटी गांठे पड़ जाती हैं जिसमें बेहद दर्द होता है।जिससे व्यक्ति को खाने-पीने में भी परेशानी का सामाना करना पड़ता है।

अगर आप भी गले के दर्द से हैं परेशान तो नजरअंदाज न करें ये संकेत, हो सकता हैं इंफेक्शन
X

आमतौर पर मौसम बदलने के साथ ही हमारे गले में इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है। गले में इंफेक्शन दो तरह का होता है। पहले इंफेक्शन में तालु के पास छोटी-छोटी गांठे पड़ जाती हैं जिसमें बेहद दर्द होता है। जिससे व्यक्ति को खाने-पीने में भी परेशानी का सामाना करना पड़ता है।

जबकि दूसरे तरह का इंफेक्शन की बैक्टीरिया वजह से होता है। इससे पीड़ित व्यक्ति को गले में दर्द के साथ बुखार भी आ जाता है। इसे आम बोलचाल में टॉन्सिल्स कहते हैं। इसलिए आज हम आपको बता रहे हैं गले के इंफेक्शन के लक्षण और उसके उपचार , जिससे आप समय रहते ही समस्या का छुटकारा पा सकें।

गले में इंफेक्शन के लक्षण :

1. पानी पीने में परेशानी

2. गले में दर्द होना

3. खाना खाने में कठिनाई होना

4. गले में घाव होना

5. जीभ में सूजन आना

गले में इंफेक्शन का उपचार :

1. गले के इंफेक्शन से छुटकारा पाने के लिए रात को सोने से पहले देसी गाय के एक गिलास दूध में एक चम्मच देशी घी और आधी चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर पीएं।

2. सुबह खाली पेट एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर पीने से गले के इंफेक्शन में आराम मिलता है।

3. गले के इंफेक्शन की वजह से मुंह की बदबू को खत्म करने के लिए रोज एक लहसुन चबाकर खाएं।

4. शहद में अदरक और तुलसी का रस मिलाकर चाटने से गले के इंफेक्शन में बहुत जल्द लाभ मिलता है।

5. टॉन्सिल्स होने पर रात को सोने से पहले एक गिलास गुनगुने दूध में थोड़ी हल्दी मिलाकर पीने से दर्द में फायदा होता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story