Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सावधान! इन तीन तरह के काम करने से पुरुष बन सकते हैं नपुंसक

पुरुष की स्वास्थ्य संबंधी जानकारी की बात करे, तो हम देखते है कि बहुत कम पुरूष ऐसे होते है, जो अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होते है| कुछ लोग आलस के कारण अपनी हेल्थ पर ध्यान नहीं देते।

सावधान! इन तीन तरह के काम करने से पुरुष बन सकते हैं नपुंसक

पुरुष की स्वास्थ्य संबंधी जानकारी की बात करे, तो हम देखते है कि बहुत कम पुरूष ऐसे होते है, जो अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होते है| कुछ लोग आलस के कारण अपनी हेल्थ पर ध्यान नहीं देते, तो कुछ लोगो ने अपनी लाइफ को इतना बिजी बना देते है की चाह कर भी अपने स्वास्थ के प्रति ध्यान नहीं दे पाते हैं। लेकिन इस बीच अपका खान पान और आपके लाइफस्टाल बारें में सही जानकारी न होने के कारण आपके शरीर पर बुरा असर करती हैं।

खासकर अधिकतर पुरषों को ऐसा प्रोफेशन चुनना पड़ता है जिसके बारे में उन्हें ज्यादा जानकारी नहीं होती और ये प्रोफेशन उनके शरीर पर बुरा असर डालती हैं, खासतौर पर, जब पुरूष अपने प्रोफेशन में काम करने से कारण अपने शुक्राणु के बनने की क्षमता को कम कर देता या खत्म कर देता है जिसके कारण पुरुष को नपुसंक होने का ख़तरा हो सकते हैं।

ऐसा इसलिए है क्योँकि हमें कई बार ऐसे प्रोफेशन में जाना पड़ जाता है जिनके बारे में हमें ज्यादा कुछ नहीं पता होता। जिसका खामियाजा उन्हें भविष्य में भुगतना पड़ता है। आज हम आपको ऐसे 3 प्रोफेशन के बारे में बताने जा रहे है जो आपको नपुंसक बना सकते हैं...

1. वैल्डिंग

पहला व्यवसाय वैल्डिंग है। वैल्डिंग ऐसा कार्य है जिसमें आपको ऐसे हानिकारक किरणों का सामना करना पड़ता है जो आपके शरीर के लिए बेहद नुकसानदायक है। इस कार्य को करते वक्त पुरुषों को बीच-बीच में ब्रेक लेते रहना चाहिए और किरणों से जिसका अधिक बचाव किया जा सकता है उतना करना चाहिए।

2.साइक्लिंग

साइक्लिंग एक ऐसी चीज है जो लोग रोज़मर्रा के जीवन में इस्तेमाल करते हैं। लेकिन साइक्लिंग के ज्यादा प्रयोग करने से पुरुषों को काफी तकलीफ पहुंच सकती है।
जो पुरूष दिन में 5 घंटे या उससे ज्यादा वक्त साइक्लिंग करते हैं उनमें नपुंसक बनने का ज्यादा खतरा बना रहता है। अगर आप साइक्लिंग व्यवसाय के रूप में करते है, तो इस बात का ध्यान रखें और समय समय पर डाक्टर की सलाह जरूर लें।

3.जिमट्रेनर

फिट रहने के शौक में लोग जिम को जॉइन करते है और जिमट्रेनर पर अपने आपको फिट बनाने के भरोसे के साथ लोग जिम जॉइन करते है , क्योंकि जिमट्रेनर को हमेशा सबसे ज्यादा फिट माना जाता है और ज्यादतर मामले में जिमट्रेनर फिट होते भी हैं।
लेकिन बहुत से ट्रेनर ऐसे भी हैं जो ज्यादा फ़िटनेस के चक्कर में अपने शुक्राणुओं की बनने की क्षमता को ही खत्‍म कर बैठते हैं। भारी वजन उठाने से पुरुषों के टेस्टिकल्स पर बुरा असर पड़ता है जिसके कारण उनके शक्राणु कम हो जाते है जिस वजह से वे नपुंसक भी बन सकते हैं।
जिम में ट्रेनिंग करना कोई खराब़ चीजं नहीं, इसेसे पुरुषों के शरीर को ताकत ही मिलती है और वे फिट रहते है मगर सिर्फ तब तक जब तक ये एक लिमिट में की जाए।
Next Story
Share it
Top