Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ये है चिकनगुनिया से बचाव और इलाज

चिकनगुनिया जैसी जानलेवा बीमारी से बचने के लिए खुद को मच्खर से दूर रखें।

ये है चिकनगुनिया से बचाव और इलाज
नई दिल्ली. इस साल भारत में चिकनगुनिया से जुड़े कई मामले सामने आ चुके हैं। यह बीमारी मच्छरों के वायरस से फैलती है, जो खतरनाक जोड़ों के दर्द का कारण बनता है इसके अलावा, तेज बुखार और सिर दर्द भी होता है। चिकनगुनिया जैसी जानलेवा बीमारी एडीज प्रजाति के मच्छर के काटने से होता है। आपको चिकनगुनिया से जुड़े कुछ ऐसी बात बता रहे हैं जिसे जानना आपके लिए बेहद जरूरी है...
यह संक्रामक बीमारी नही है-
अगर आप ये सोचते होंगे कि चिकनगुनिया एक फैलने वाली बीमारी है तो ऐसा कुछ भी नहीं है। यह बीमारी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक कभी नहीं फैलता है। हालांकि, ऐसा बहुत कम देखा कि एक गर्भवती महिला के नवजात शिशु में ये बीमारी आए लेकिन रोग नियंत्रण और रोगथाम केंद्र के अनुसार ऐसा सिर्फ ब्लड के ट्रांसफर से ही संभव है।
ये हैं लक्षण-
चिकनगुनिया जिस तरह से लगातार फैल रहा है उसे ध्यान में रखते हुए आपको इससे जुड़े हुए लक्षण पता होना चाहिए ताकि जल्द से जल्द इसका इलाज कराया जा सके। बता दें कि मच्छर के काटने के बाद तीन से सात दिन तक सिर दर्द, जोड़ों में सूजन, शरीर में लाल धब्बे, मांसपेशियों में दर्द और तेज बुखार चिकनगुनिया का आम लक्षण है। आमतौर पर यह लक्षण आपको मच्छर के काटने के बाद दो से तीन दिन में पता चल जाएगा।
ये है इलाज-
चिकनगुनिया के लक्षण दिखाई देने पर सबसे पहले तो डॉक्टर से सलाह लें और डॉक्टर द्वारा दी गई दवाईयों का सेवन करें। इसमें आपको ज्यादा से ज्यादा आराम करना चाहिए साथ ही सेहत के लिए तरल पदार्थों जैसे जूस वगैरह पीना चाहिए।
रोगी के ठीक होने का वक्त-
अगर आप समय से दवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं और अच्छी तरह से आराम कर रहे हैं तो आप इस बीमारी से सिर्फ 1 सप्ताह में ही निजात पा सकते हैं। हालांकि, जोड़ों का तुरंत नहीं जाएगा लेकिन आपको घबराने की जरूरत नहीं है कुछ समय के बाद ये दर्द भी छूमंतर हो जाएगा।
इसे रोकने के उपाय-
अगर आपको चिकनगुनिया जैसी बीमारी से बचना है तो इसके लिए एक ही उपाय है कि आप खुद को मच्छरों से बचाकर रखें। इसके लिए कोशिश करनी चाहिए कि लंबी आस्तीन के कपड़े पहने जिससे मच्छरों के काटने से बचा जा सके। इसके अलावा आप मच्छरों को भगाने वाली क्रीम का भी अपने स्किन पर इस्तेमाल कर सकते हैं। इस तरह से आप खुद को मच्छरों से दूर रख सकते हैं।
साभार- indiatimes
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top