Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारतीय नहीं जलेबी, समोसा, गुलाब जामुन और ये 10 फूड

ये सारे फूड्स करीब 100 से 150 साल पहले ही भारत आए हैं।

भारतीय नहीं जलेबी, समोसा, गुलाब जामुन और ये 10 फूड
X
नई दिल्ली. चाय के साथ समोसा खाना हर इंडियन्स की पहली पसंद है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जलेबी, समोसा, चाय, दाल-भात,राजमा आपकी फेवरेट डिशेज इंडियन डिश नहीं है। दरअसल, ये फूड्स भारत में इतने फेमस हो गए हैं कि लोग इन डिशों को भारतीय व्यंजन ही मानने लगे हैं। लेकिन वास्तव में ये फूड्स इंडियन नहीं है। ये सारे फूड्स करीब 100 से 150 साल पहले ही भारत आए हैं और धीरे-धीरे भारतीय संस्कृति से जुड़ गए। तो आइए बताते हैं उन फूड्स के बारे में जो भारतीय होकर भी भारतीय मूल के नहीं हैं।
जलेबी
ये लगभग 500 साल पहले पश्चिमि एशिया से भारत में आई। अरबी में इसे जलबिया और पर्शियन में जलीबिया कहा जाता है।
समोसा
ये भारत में 13 से 14वीं शताब्दी के दौरान मिडिल ईस्ट से आया। पहले इसमें मीट भरकर बनाया जाता था और इसे सम्बोसा कहा जाता था।
गुलाब जामुन
ये असल में पर्शियन यानी ईरानी डिश है। गुल मतलब फूल और आब मतलब पानी। ईरान में ये डिश लुकमत-अल-कादी के नाम से फेमस है।
चाय
दरअसल, ये चीनी मेडिसिनक ड्रिंक है। अंग्रेजों के जरिए चाय भारत में आई। 1950 के बाद यह यह अधिक फेमस हुई।
दाल-भात
दरअसल ये दाल-भात एक नेपाली डिश है। उत्तर भारत से यह डिश भारत के कोने-कोने में फैली है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story