logo
Breaking

बॉडी को PERFECT शेप देने के लिए करें स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

ऑफिस में लंबे समय तक बैठकर घंटों काम करने, एक ही पोजिशन में लगातार बैठे या खड़े रहने, लगातार वर्कआउट करने से हमारी मसल्स स्टिफ हो जाती हैं। इस वजह से बॉडी में काफी पेन होता है।

बॉडी को PERFECT शेप देने के लिए करें स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज
नई दिल्ली. ऑफिस में लंबे समय तक बैठकर घंटों काम करने, एक ही पोजिशन में लगातार बैठे या खड़े रहने, लगातार वर्कआउट करने से हमारी मसल्स स्टिफ हो जाती हैं। इस वजह से बॉडी में काफी पेन होता है। बॉडी की शेप भी बिगड़ जाती है। लेकिन अलग-अलग तरह की स्ट्रेचिंग से मसल्स फ्लेग्जिबल और एक्टिव बनी रहती हैं।
इस स्ट्रेच में हमारी बॉडी के निचले हिस्से की मांसपेशियां यानी क्वाड्रिसेप्स मसल्स
स्ट्रेच होती हैं। इससे कमर के नीचे का हिस्सा फ्लेग्जिबल और एक्टिव होता है। इस एक्सरसाइज को करने के लिए दोनों पैरों पर सीधे खड़े हो जाएं। अपना बैलेंस बनाने के लिए किसी मजबूत चीज को बाएं हाथ से पकड़ भी सकते हैं। अब दाएं हाथ से दाएं पैर की एड़ी को पकड़ें और घुटने को पीछे की ओर मोड़ते हुए एड़ी को कूल्हे तक ले जाएं। दूसरे पैरों से भी इस प्रक्रिया को दोहराएं।
यह एक्सरसाइज एब्डॉमिनल मसल्स यानी पेट की मांसपेशियों को फ्लेग्जिबल बनाती है। इसे करने के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं। अपनी हथेली को कंधे के नीचे जमीन पर टिका कर रखें। इसके बाद अपने सिर और कंधों को हथेलियों के बल पर ऊपर उठाएं। ऊपर उठते हुए आपके नीचे का हिस्सा जमीन पर ही टिका रहे। इससे पेट के सामने की मसल्स में खिंचाव उत्पन्न होता है।
हिप-फ्लैक्सर मसल्स, कूल्हे और उनके ऊपरी हिस्से पर स्थित होती हैं। इन्हीं की वजह हमारे
पैर
ऊपर से नीचे, आगे से पीछे, दाएं से बाएं और बाएं से दाएं की ओर मूव कर पाते हैं। लेकिन आॅफिस में काम करते हुए लगातार कई घंटों तक बैठे रहने के कारण इन मसल्स के सख्त और चोटिल होने का खतरा बना रहता है। स्टिफ हिप-फ्लैक्सर मसल्स के कारण पीठ में दर्द, कूल्हे के अगले हिस्से में झुकाव आदि परेशानी हो सकती हैं। इनसे बचने के लिए हिप-फ्लैक्सर स्ट्रेचिंग करें। इसे करने के लिए पहले नीचे की ओर थोड़ा झुकें। इसके बाद अपना बायां पैर आगे की ओर लाएं। हाथ कमर या जांघों पर रखें। अब बाएं पैर पर वजन दें। ऐसा करते हुए ध्यान रखें कि आपके पैर की मसल्स सख्त हों। ऐसा करते हुए अपनी पीठ को सीधा रखें। इसे करते हुए आपको बॉडी में खिंचाव महसूस होना चाहिए। इसके बाद यह प्रक्रिया दाएं पैर से भी दुहराएं।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, अन्य एक्सरसाइज
-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top